कासगंज भी पहुंचा जानलेवा बुखार.. आवासीय स्कूल की छात्रा ने तोड़ा दम, डीएम ने मांगी रिपोर्ट..

डीएन संवाददाता

यूपी में जानलेवा बुखार के कारण अब तक लगभग 150 लोगों की मौत हो चुकी है। बहराइच में इसका सबसे ज्यादा कहर देखा जा रहा है। धीरे-धीरे बुखार अन्य जनपदों में भी तेजी के साथ फैल रहा है। कासगंज में भी बुखार के कारण एक छात्रा ने दम तोड़ दिया। जिलाधिकारी ने इस मामले में डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत की..

स्कूल प्रशासन से पूछताछ करते डीएम आरपीसिंह
स्कूल प्रशासन से पूछताछ करते डीएम आरपीसिंह

कासगंज: यूपी के कई जिले जानलेवा बुखार की चपेट में हैं। बहराइच में इसका सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है जहां पिछले 45 दिनों में 71 बच्चों की मौत हो गई है, जबकि पूरे राज्य में अब तक 150 लोग इस कारण जान गंवा चुके हैं। कासगंज में भी अब दिमागी बुखार से लोग सहम गये है। यहां के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में बुखार के कारण कक्षा 8 की छात्रा की मौत हो गयी। छात्रा की मौत से जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है, जिलाधिकारी ने मामले की पूरी रिपोर्ट तलब की है।

यह भी पढ़ें: कासगंज: बदमाशों ने चाचा-भतीजे को मारी गोली, एक की मौत, दूसरा गंभीर 

 

छात्रा की मौत की सूचना के बाद में डीएम, एसपी, बीएसए और सीएमओ खुद स्कूल पहुंचे, जहां स्कूल प्रशासन से पूछताछ की जा रही है। छात्रा की मौत के बाद में परिजनों में भारी आक्रोश है।

डीएम आरपीसिंह ने डाइनामाइट न्यूज से बातचीत में कहा कि कस्तूरबा गांधी विद्यालय में चार दिन पूर्व शिवांगी नाम की छात्रा को बुखार आया था, जिसके बाद में छात्रा को विद्यालय की वार्डन ने जिला अस्पाताल में भार्ती कराया था, तब बच्ची की हालत में काफी सुधार आया था। लेकिन कल शाम उसकी उसकी दोबारा हालत बिगड़ गयी और अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। 

यह भी पढ़ें: कासगंज: मकान गिरने से मलबे में दबकर ग्रामीण की मौत, क्षेत्र में पसरा मातम 

प्रशासन का कहना है कि कल शाम को शिवांगी की फिर से दोबारा हालत बिगड़ गयी, जिसके बाद छात्रा को दोबारा भर्ती कराया गया था। जहां पर छात्रा को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। छात्रा को वेंटीलेटर पर रखा गया। छात्रा की हालत में सुधार न होने पर उसे अलीगढ़ रेफर कर दिया गया। लेकिन दुर्भाग्यवश रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी। परिजनों को सूचना दे दी गयी है, और पूरे मामले पर स्कूल प्रशासन से जांच रिपोर्ट मांगी गयी है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …