कानपुर: स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों का पैदल मार्च

डीएन संवाददाता

स्कूलों की मनमानी और अनियमितताओं के विरोध में अभिभावकों ने पैदल मार्च कर विरोध जताया। अभिभावकों ने हस्ताक्षर युक्त 750 स्क्वायर फ़ीट लंबी मानव श्रृंखला भी बनायी।

 स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों का पैदल मार्च
स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों का पैदल मार्च

कानपुर: मानवाधिकार सुरक्षा एवं संरक्षण ऑर्गनाइजेशन के तत्वाधान में निजी स्कूलों की मनमानी और अनियमितताओं के विरोध में अभिभावकों ने पैदल मार्च कर विरोध जताया। अभिभावकों ने हस्ताक्षर युक्त 750 स्क्वायर फ़ीट लंबी मानव श्रृंखला बनाकर सरसैया घाट से कलक्ट्रेट तक पैदल मार्च निकाला और डीएम के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भी प्रेषित किया।

यह भी पढ़ें: कानपुर: नकल करने से रोका तो तोड़फोड़ और पथराव करने लगे छात्र

अभिभावकों ने लंबी मानव श्रृंखला के साथ तिरंगा लिए हुए व 'भारत होगा विकसित मुल्क, जब कम होगा सीमा शुल्क' और 'आओ घर घर अलख जलाएं, शिक्षा शुल्क समान कराएं' जैसे स्लोगन हाथों में लिए हुए अपना विरोध जताया। इस दौरान स्कूलों की मनमानी नही चलेगी के नारे भी लगाए गए। अभिभावकों का कहना है कि स्कूलों को व्यापार न बनाया जाए व अनियमितताओं पर सख्त कार्यवाई हो। 

यह भी पढ़ें: कानपुर: रैगिंग के आरोपी 22 आईआईटी स्टूडेंट्स सस्पेंड

राष्ट्रीय महामंत्री तपन अग्निहोत्री ने बताया कि निजी स्कूलों की मनमानी के विरुद्ध हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। खास बात है कि 87 हज़ार पांच सौ अट्ठारह अभिभावकों ने बैनर में बने बॉक्सों में अपने हस्ताक्षर और फ़ोन नंबर लिखे। उन्होंने बताया कि निजी स्कूलों की मनमानी और अनियमितताओ को लेकर सरकार से इस पर रोक की मांग की गयी थी लेकिन अब तक मांगे नहीं मानी गयी। जिसके बाद 19 जुलाई को हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत की थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार