गर पहले आता फैसला तो तीन तलाक की पीड़ा से बच जाती सोफिया

डीएन संवाददाता

आर्यनगर निवासी सोफिया अहमद तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बेहद खुश हैं। उनका कहना है कि अगर यह फैसला पहले आता तो कई महिलाओं की जिंदगी अच्छी हो जाती।


कानपुर: तलाक की पीड़ा से जूझ रही आर्यनगर निवासी सोफिया अहमद तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बेहद खुश नजर आईं। उन्होंने कहा कि आज जो फैसला आया वो बहुत अच्छा है और ये फैसला पहले ही आ जाना चाहिये था।

सोफिया के निकाह की तस्वीर

सोफिया ने कहा कि अभी भी कोई देरी नहीं हुई है। यह जो फैसला आया है, उससे अब बाकी महिलाओं की जिंदगी काफी अच्छी हो सकती है।

पीड़ित सोफिया ने ये बात कुबूल की कि अगर शायद ऐसा फैसला पहले आया होता तो उनका तलाक नहीं होता और वह इस पीड़ा से बच जाती। सोफिया का जब तलाक हुआ तो उसका बेटा 40 दिन का था।

क्या हुआ सोफिया के साथ

सोफिया अहमद का निकाह देवरिया क्षेत्र के एक विधायक के भाई के साथ हुआ था। सोफिया ने बताया कि वह उनसे मारपीट करता था और करीब एक साल बाद उसने नशे की हालत में तलाक बोल दिया। तबसे लेकर आज तक सोफिया न्याय की आस लगाये बैठी हैं।

उन्होंने कई बार प्रशासन, शासन से भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार