कानपुर: केरल में बढ़ती हिंसा के खिलाफ एबीवीपी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

डीएन संवाददाता

केरल में आरएसएस के खिलाफ बढ़ रही हिंसा के खिलाफ एबीवीपी 11 नवम्बर को 'चलो केरल' रैली शुरू करेगी, जिसमें 50 हज़ार से अधिक कार्यकर्ता केरल कूच करेंगे। विद्यार्थी परिषद केरल हिंसा के विरोध में कम्युनिस्ट पार्टियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

एबीवीपी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
एबीवीपी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

कानपुर: केरल में आरएसएस और एबीवीपी कार्यकर्ताओ पर हो रही हिंसा के विरोध में आज दर्जनों एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर केरल सरकार व कम्युनिस्ट पार्टियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कम्युनिस्ट पार्टी का झंडा भी जलाया और सड़क को जाम कर दिया। एबीवीपी केरल में बढ़ रही हिंसाओं के खिलाफ 11 नवम्बर को 'चलो केरल'  रैली शुरू करेगी, जिसमें 50 हज़ार से अधिक कार्यकर्ता केरल कूच करेंगे। 

केरल में संघ और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं की हत्याओं के विरोध में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने वामपंथी पार्टियों और कम्युनिस्टों के खिलाफ परेड चौराहे पर जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने वहां से वाहनों को भी नहीं गुजरने दिया।

विद्यार्थी परिषद के प्रदेश संगठन मंत्री विजय प्रताप ने कहा कि जिस तरह केरल में एबीवीपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर हमले हो रहे है और उनकी हत्याएं की जा रही है, वह काफी शर्मनाक है।

विजय प्रताप ने कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी के लोग बौखला गए हैं, क्योंकि अब उनको देश मे कहीं भी जगह नहीं मिल रही है। इसलिए वे योजनाबद्ध तरीके से केरल में वामपंथी विचार को थोपना चाहते हैं। कम्युनिस्टों की इस हरकत को अब एबीवीपी बर्दाश्त नही करेगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार