कांची मठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती का निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

डीएन ब्यूरो

कांची पीठ के प्रमुख शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती का आज तमिलनाडु के कांचीपुरम में निधन हो गया। जयेंद्र सरस्वती स्वामिगल 82 साल के थे। उनके निधन पर संत समाज ने भारी दुख जताया है।

जयेंद्र सरस्वती (फाइल फोटो)

कांचीपुरम: कांची पीठ के प्रमुख शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती का आज तमिलनाडु के कांचीपुरम में निधन हो गया। जयेंद्र सरस्वती 82 साल के थे। उनके निधन पर संत समाज  समेत राजनीतिक-सामाजिक नेताओं ने भारी दुख जताया है।

उनके निधन पर पीएम मोदी ने भी दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि उन्होंने हमेशा समाज के लिए काम किया है। इसके लिए वो लोखों लोगों के दिलों में याद रहेंगे। पीएम मोदी ने अपने ट्वीटर पर शंकराचार्य के साथ अपनी पुरानी तस्वीर भी शेयर की है।

 

 

बताया जा रहा है कि उन्हें सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसी दौरान कांचीपुरम के एक निजी अस्पताल में उनका निधन हो गया।

कांची मठ तमिलनाडु के कांचीपुरम में स्थापित है। यह दक्षिण भारत के महत्त्वपूर्ण धार्मिक स्थलों में से एक है। उन्हें 1994 में कांची मठ का प्रमुख बनाया गया था। जयेंद्र सरस्वती कांची मठ के 69वें शंकराचार्य थे। जयेंद्र वेदों के बड़े ज्ञाता माने जाते है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार