किसानों का 23 करोड़ डकारने वाला इनामी हिस्ट्रीशीटर पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल गिरफ्तार, हत्या के मामले में था वांछित

डीएन संवाददाता

वाराणसी इलाके के जिस पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल को पूरे वाराणसी जोन की पुलिस खोजकर हार गयी लेकिन गिरफ्तार नही ही कर पायी, उस हत्यारे पूर्व सांसद को यूपी एसटीएफ ने मध्य प्रदेश से गिरफ्तार कर डाला है। इस पर महराजगंज जिले के गरीब गन्ना किसानों का 23 करोड़ रुपये डकारने का भी आरोप है। डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव..

जवाहर जायसवाल (फाइल फोटो)
जवाहर जायसवाल (फाइल फोटो)

दमोह (मध्य प्रदेश): हत्या के मामले में फरार चल रहे वाराणसी इलाके के निवासी और पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल को यूपी एसटीएफ ने मध्य प्रदेश के दमोह इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। 

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक इसे गिरफ्तार करने के लिए पूरे वाराणसी जोन की पुलिस लगी हुई थी लेकिन इसका बाल भी बांका नही कर पायी। कई बार इसके घर पर दबिश दी गयी लेकिन कुछ भी हाथ नही लगा।

फिर सीएम ने इसे गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी यूपी एसटीएफ को सौंपी और अब नतीजा ये है कि ये हाई-प्रोफाइल हत्यारा अब पुलिस की सलाखों के पीछे है। जवाहर औऱ इसके बेटे गौरव पर पचीस-पचीस हजार का इनाम भी घोषित है। दोनों पर गैर जमानती वारंट भी जारी था। 

23 अप्रैल 2012 को अर्दली बाजार निवासी बैंक कर्मी महेश जायसवाल की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। महेश के भाई संत प्रसाद की याचिका पर हाईकोर्ट के हस्तक्षेप के बाद बाप-बेटे का नाम विवेचना में सामने आया था। अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया तभी से दोनों घर छोड़ कर भागे हुए हैं। फिलहाल दोनों की तलाश में पुलिस टीमें की राज्यों में इसे तलाश। रही थीं। 

महराजगंज जिले में इसकी जेएचवी गड़ौरा चीनी मिल है। जहां गन्ना किसानों का इसने 23 करोड़ रुपये डकार रखा है। जवाहर जायसवाल वाराणसी के कैंट थाने का हिस्ट्रीशीटर है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार