बलरामपुर: डीएम ने उजागर किया ईवीएम वेयर हॉउस घोटाला, 4 के खिलाफ FIR दर्ज कर जांच के आदेश

डीएन ब्यूरो

जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश की जांच से उस समय हड़कंप मच जब उन्होंने 89 लाख रुपये से निर्मित ईवीएम वेयर हाऊस का घोटाला उजागर किया। इस मामले में कई के खिलाफ मामले दर्ज करने के आदेश जारी कर दिये गये हैं। पूरी खबर..


बलरामपुर: जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश की जांच से उस समय हड़कंप मच गया, जब उन्होंने 89 लाख रुपये से निर्मित ईवीएम वेयर हाऊस का घोटाला उजागर किया। सपा सरकार के कार्यकाल में इस वेयर हाउस का निर्माण ईवीएम मशीनों को सुरक्षित रखने के लिए किया गया था। 89,37500 रुपये की लागत से बने वेयर हाऊस के निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग कर सरकारी धन का बंदरबाट करने का मामवा सामना आया है। घटिया निर्माण के कारण वेयर हाउस की दीवारों और छतों में दरारे आ गई है। हल्की सी बारिश में छतों से पानी टपकने लगता है। 

जिलाधिकारी के निर्देश पर हुई जांच में पाया गया कि वेयर हाऊस के निर्माण में घटिया सामग्री का जमकर प्रयोग किया गया, जिससे यह बिल्डिंग अब बिना काम के साबित हो रही है। जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने बताया कि बिल्डिंग के निर्माण में घटिया किस्म के ईंट, बालू , सीमेंट का प्रयोग किया गया था। बिल्डिंग में लगाए गए दरवाजे भी घटिया किस्म के थे।

उन्होंने बताया कि ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशासी अभियंता ग्रामीण हैदर मेहंदी रिजवी, अनिल कुमार सक्सेना, सहायक अभियंता प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, अवर अभियंता सतीश चंद के विरुद्ध थाना कोतवाली देहात में मुकदमा पंजीकृत करने का निर्देश दिया गया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार