इटावा: गाय बचाने के लिये गंवाई जान, मदद के लिये सामने आईं विधायक सावित्री कठेरिया

डीएन संवाददाता

गाय बचाने के लिये कुएं में उतरकर जान गंवाने वाले ग्रामीण के बच्चों के सिर से मां-बाप का साया हमेशा के लिये उठ गया है। इस मुश्किल घड़ी में भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया सामने आईं और मासूमों समेत मृतक के बच्चों को हर मदद देने का आश्वासन दिया है। पूरी खबर..

शोक व्यक्त करती विधायक सावित्री कठेरिया
शोक व्यक्त करती विधायक सावित्री कठेरिया

इटावा: ताखा तहसील के गांव नगला महासिंह समथर में गत दिनों कुंए में गिरी गाय को बचाने के चक्कर में जान गंवाने वाले युवक साहब सिंह कठेरिया के परिजनों की मदद के लिये भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया आगे आयीं है। विधायक ने इस घटना पर अफसोस जताया और मृतक कठेरिया के कार्यों को महान बताते हुए उसके बच्चों को हर मदद दिलाने का आश्वासन दिया।

गौरतलब है कि पति साहब सिंह कठेरिया की मौत के सदमें में अगले दिन उनकी पत्नी मालती देवी की भी मृत्यु हो गई थी। मां-बाप की मौत के बाद उनके 6 छोटे-छोटे बच्चे अनाथ हो गये, जो अब दर-दर की ठोकर खाने के लिए मजबूर हो गये थे। लेकिन अब विधायक की मदद के बाद उनका जीवन संवर जाने की उम्मीदें बढ़ गयी है।

 

 

इस घटना के लगभग एक सप्ताह बाद भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया वहां के एसडीएम सत्य प्रकाश के साथ ताखा तहसील के गांव नगला महासिंह समथर पहुंची और कठेरिया के परिजनों से मुलाकात की। विधायक सावित्री कठेरिया ने ताखा एसडीएम से असहाय परिजनों और बच्चों की हर सम्भव मदद उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने मृतक के बच्चों और परिजनों को 5 बीघा कृषि भूमि पट्टे पर देने को भी कहा। इसके अलावा विधायक ने मुख्यमंत्री राहत कोष से एक आवास भी असहाय परिजनों को उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। 

भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया के साथ सुधीर कुमार सिंह कठेरिया, भाजपा मण्डल उपध्यक्ष सत्यप्रकाश कठेरिया, गौतम कठेरिया आदि लोग मौजूद रहे।

गौरतलब है कि 18 जून को कुएं से गाय को बचाने के चक्कर में साहब सिंह कठेरिया कुएँ के अन्दर कूद गए थे, लेकिन वह कुंए में फैली जहरीली गैस की चपेट में आ गया और दम घुटने से उसकी मौत हो गयी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार