सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अनदेखी, जमकर फूटे बम, दिल्ली-एनसीआर का निकला दम

डीएन ब्यूरो

देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में लगातार प्रदूषण के बढ़ते स्तर पर रोक लगाने के लिये सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर केवल ग्रीन पटाखे जलाने का सख्त निर्देश दिया था लेकिन दिल्ली-एनसीआर के लोगों ने इस आदेश की खुलेआम अनदेखी की। डाइनामाइट न्यूज़ की इस एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में जानें कितना जानलेवा बना दिल्ली-एनसीआर का प्रदूषण..

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ा प्रदूषण
दिल्ली-एनसीआर में बढ़ा प्रदूषण

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में दिवाली के बाद प्रदूषण फिर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। प्रदूषण के बढ़ते स्तर पर रोक लगाने के लिये सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर तय समय सीमा के तहत केवल ग्रीन पटाखे जलाने के सख्त निर्देश दिये थे लेकिन दिल्ली-एनसीआर के लोगों ने इस आदेश की अनदेखी की और जमकर पटाखे फोड़े, जिस कारण प्रदूषण का स्तर काफी चिंताजनक हो गया है।

देर रात तक जलते रहे पटाखे

दिल्ली-एनसीआर के लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के सख्त आदेश के बावजूद भी दिवाली की रात जमकर पटाखे फोड़े। राजधानी दिल्ली में कई जगहों पर पटाखे फोड़ने का सिलसिला रातभर चला, जिस कारण गुरूवार की सुबह दिल्ली की हवा खतरनाक हो गई है। दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 999 पहुंच गया है, जो काफी ज्यादा है। 

खतरनाक स्तर पर पहुंचा दिल्ली का प्रदूषण

सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली की रात केवल 8 से 10 बजे तक पटाखे फोड़ने की समय सीमा निर्धारित की थी लेकिन लोगों ने इसकी अनदेखी की और देर रात तक पटाखे फोड़े गये। जिस कारण गुरूवार की सुबह जब लोगों ने आंखें खोली तो उन्हें सांस लेने में भी दिक्कत हुई। हालांकि दिवाली पर पहले की अपेक्षा लोगों में पटाखों को लेकर लोगों कम उत्साह देखा गया लेकिन इसके बावजूद भी प्रदूषण उस अनुपात में कम नहीं हुआ। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार