भारत-रूस के बीच रेलवे, रक्षा, डिफेंस व परमाणु समेत 8 महत्वपूर्ण समझौते

डीएन ब्यूरो

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की द्विपक्षीय वार्ता कई मायनों में काफी सफल और एतिहासिक रही। भारत और रूस के बीच बहुप्रतिक्षित S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम डील पर हस्ताक्षर हो गए हैं। हैदराबाद हाउस से डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


नई दिल्ली: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की द्विपक्षीय वार्ता के मौके पर राजधानी दिल्ली के हैदराबाद हाउस में भारत-रूस के बीच कई महत्वपूर्ण समझौतों का आदान-प्रदान किया गया और दोनों देशों द्वारा इन पर हस्ताक्षर किये गये। भारत और रूस के बीच रेलवे, अंतरिक्ष, परमाणु, ऊर्जा, डिफेंस समेत कई क्षेत्रों में समझौते हस्ताक्षरित किये गये। इसके अलावा भारत और रूस के बीच बहुप्रतिक्षित S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम डील पर भी हस्ताक्षर हो गए हैं। इस डील के तहत भारत रूस से एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के 5 सेट खरीदेगा।

यह भी पढ़ें: VIDEO.. अतीत के झरोखों में देखिये भारत-रूस की दोस्ती की शानदार झलक 

 

 

दिल्ली के हैदराबाद हाउस में भारत और रूस की संयुक्त वार्ता जारी है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत हमेशा से ही रूस के साथ अपने संबंधों को प्राथमिकता देता आया है। रूस हमेशा भारत के विकास की कहानी का साझेदार भी रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत-रूस मैत्री अपने आप में अनूठी है, इस विशिष्ट रिश्ते के लिए राष्ट्रपति पुतिन की प्रतिबद्धता से इन संबंधों को और भी ऊर्जा मिलेगी।

यह भी पढ़ें: जानें, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का पूरा कार्यक्रम 

 

 

हैदराबाद हाउस में कई अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में भी भारत और रूस ने करार किए हैं। भारत और रूस के बीच अंतरिक्ष में सहयोग को लेकर भी बड़ा समझौता हुआ है। साइबेरिया के शहर नोवोसबिरस्क में भारत मॉनिटरिंग स्टेशन बनाएगा।

दिल्ली के हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति पुतिन

 

भारत और रूस के बीच इस द्विपक्षीय वार्ता पर पूरी दुनिया की नजरें है। मोदी और पुतिन की इस मुलाकात पर अमेरिका की भी नजरें रहीं है। बताया जाता है कि अमेरिका को भारत और रूस की यही दोस्ती रास नहीं आ रही। इधर पाकिस्तान की भी इस करार पर नजरें है।

इन समझौतों के लिये गुरुवार की शाम पुतिन भारत के दो दिनों के दौरे पर नई दिल्ली पहुंचे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। इसके बाद पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और डिनर पर चर्चा की।
 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …