भटक कर दूसरे गांव पहुंची मानसिक रूप से कमजोर किशोरी को चाइल्ड लाइन ने परिजनों को सौंपा

डीएन ब्यूरो

जिले के सिसवा कस्‍बे में एक घर से मानसिक रूप से कमजोर किशोरी घर से कहीं निकल गई। परिजनों ने खोजबीन की लेकिन वह नहीं मिली। हालांकि चाइल्‍ड लाइन को किशोरी किसी दूसरे गांव में घूमते दिखी तो उसे परिजनों तक सुरक्षित पहुंचाया।

किशोरी को परिजनों को सौंपते चाइल्‍ड लाइन और पुलिस कर्मचारी
किशोरी को परिजनों को सौंपते चाइल्‍ड लाइन और पुलिस कर्मचारी

सिसवा बाजार (महराजगंज): जिले के सिसवा कस्‍बे में एक घर से मानसिक रूप से कमजोर किशोरी घर से कहीं निकल गई। परिजनों ने खोजबीन की लेकिन वह नहीं मिली। हालांकि चाइल्‍ड लाइन को किशोरी किसी दूसरे गांव में घूमते दिखी तो उसे परिजनों तक सुरक्षित पहुंचाया।

यह भी पढ़ें: बीएसएनल ध्वस्त को लेकर फूटा व्यापारियों का गुस्सा, आफिस में फूंका पुतला, लगाए मुर्दाबाद के नारे

महराजगंज के सिसवा कस्बे के वार्ड नंबर दो निवासी 14 वर्षीया मनीषा पुत्री विनोद मानसिक रूप से कमजोर है। मंगलवार की सुबह करीब चार बजे वह घर से बिना किसी को बताए बाहर निकल गई। घर पर उसे न देखकर परिजनों ने काफी खोजबीन की। 

यह भी पढ़ें: पहली बारिश में रास्‍ते बने तालाब, वाहन छोड़िए पैदल चलना भी मुश्किल

वहीं एक दूसरे गांव बीजापार के मुहम्मदपुर टोले में  एक किशोरी को गांव के लोगों ने घूमते हुए देखा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना डायल 100 पर दी। मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने 1098 पर चाइल्ड लाइन को इस संबंध में अवगत कराया। जिस पर चाइल्ड लाइन की समन्वयक शुचिता और टीम मेंबर पिंटू कुमार किशोरी को सिसवा चौकी में लेकर आए। 
किशोरी की पहचान मनीषा के रूप में ही हुई। बाद में चाइल्ड लाइन ने मनीषा को पुलिस की मौजूदगी में उसके परिजनों को सौंप दिया।

यह भी पढ़ें: सड़क हादसे में घायल 5 में से एक की मौत, कार-ट्रैक्‍टर ट्रॉली में हुई थी टक्‍कर

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार