UP: बुलंदशहर हिंसा पर राजनीतिक सियासत तेज.. कांग्रेस ने कैंडल मार्च निकालकर योगी सरकार को घेरा

डीएन संवाददाता

बुलंदशहर में भड़की हिंसा को लेकर अब राजनीतिक सियासत भी तेज हो चली है। कांग्रेस ने राजधानी लखनऊ में कैंडल मार्च निकालकर शहीद इंस्पेक्टर के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर योगी सरकार का घेराव किया है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें कांग्रेस ने BJP पर क्या लगाए आरोप


लखनऊः बुलंदशहर में गोकशी को लेकर भड़की हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और मेरठ के रहने वाले सुमित की गोली लगने से हुई मौत के बाद अब बवाल के बाद राजनीतिक माहौल भी गर्म हो गया है। हिंसा को लेकर जहां एक और तमाम राजनीतिक पार्टियों ने यूपी की योगी सरकार में कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान उठाने शुरू कर दिए हैं तो वहीं दूसरी तरफ राजधानी लखनऊ स्थित हजरतगंज जीपीओ पर सैकड़ों की तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे और योगी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।    

यह भी पढ़ेंः एटा: शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की अंतिम विदाई में उमड़ा जनसैलाब, बेटे श्रेय ने दी मुखाग्नि

 

 

इस प्रदर्शन में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए और महिलाएं कार्यकर्ता भी शामिल हुई। कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से ध्वस्त हो चुकी है। प्रदेश में आलम यह है कि लोग अपने घरों से निकलने से डरते हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने जनता से वादा किया था कि प्रदेश से माफिया राज और गुंडाराज खत्म किया जाएगा।       

यह भी पढ़ेंः बुलंदशहर हिंसाः सुमित की मौत को लेकर बड़ा खुलासा.. पिता ने कहा- कोतवाल की गोली से हुई मौत

 

 

यह भी पढ़ेंः बुलंदशहर हिंसा को लेकर सवालों के घेरे में मेरठ जोन के एडीजी और आईजी

लेकिन वैसा प्रदेश में कहीं भी नजर नहीं आ रहा। साथ ही उन्होंने कहा बुलंदशहर की घटना जिस प्रकार हुई है और सरकार से प्रदेश नहीं संभल रहा है तो सरकार को ऐसे में इस्तीफा दे देना चाहिए। कांग्रेस ने भीड़ की हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर और युवक की गोली लगने से मौत को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। दोनों की आत्मा की शांति के लिये कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कैंडल मार्च भी निकाला और मामले में शामिल आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार