बड़ी ख़बर: स्वामी चिन्मयानंद मामले में गायब लड़की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से ठीक पहले राजस्थान में मिली

डीएन ब्यूरो

सुप्रीम कोर्ट सुनवाई से ठीक पहले भारत सरकार के पूर्व गृह राज्यमंत्री मामले में लापता लड़की को राजस्‍थान से यूपी पुलिस ने बरामद कर लिया गया है। पुलिस उसे लेकर यूपी जा रही है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..

स्‍वामी चिन्‍मयानंद (फाइल फोटो)
स्‍वामी चिन्‍मयानंद (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: देश के पूर्व गृह राज्यमंत्री और भाजपा नेता स्‍वामी चिन्‍मयानंंद मामले में लापता लड़की को राजस्‍थान से यूपी पुलिस ने बरामद किया है। अभी कुछ देर में इस मामले की सुप्रीम कोर्ट सुनवाई होनी है। पुलिस उसे उत्तर प्रदेश लेकर जा रही है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि पहले वह लड़की एक युवक‍ के साथ दिल्‍ली के एक होटल में देखी गई थी लेकिन पुलिस के वहां पहुंचने से पहले वह वहां से निकल गई थी। 

 

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक इस बरामदगी का असर अब से कुछ देर में होने वाली सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पर पड़ना लाजिमी है। इस बारे में यूपी सरकार के वकील अपनी बात कोर्ट के समक्ष रखेंगे। 

 

डीजीपी ओपी सिंह का बयान

इस मामले में यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया है कि लड़की की लोकेशन राजस्‍थान मिली थी। जिसके बाद पुलिस टीम ने उसे राजस्‍थान से बरामद किया है। लड़की पूरी तरह सुरक्षित है। प्रथम दृष्‍टया प्रतीत होता है कि लड़की अपनी स्‍वेच्‍छा से पुरुष मित्र के साथ गई थी। वहीं लड़की के पिता के ओर से की गई शिकायतों पर उन्‍होंने कहा कार्रवाई की जा रही थी लेकिन हमारी प्राथमिकता थी कि लड़की को सकुशल बरामद किया जाए।

यह भी पढ़ें: यूपी के डीजीपी ओपी सिंह का स्वामी चिन्मयानंद मामले में गायब लड़की की बरामदगी पर बयान आया सामने

लापता लड़की

पुलिस का दावा लड़की स्वेच्छा से गयी थी राजस्थान

लड़की की बरामदगी की खबर यूपी पुलिस ने अपने आफिसियल ट्विटर हैंडल पर दी। दावा किया जा रहा है कि लड़की अपनी मर्जी से अपने पुरुष साथी के साथ गयी थी। 

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति के सचिव संजय कोठारी ने कहा- आईएएस की परीक्षा में विषयों का सही चयन बेहद जरुरी

यह है पूरा मामला

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद के कालेज में LLM की पढ़ाई करने वाली 24 वर्षीय छात्रा ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी कर आरोप लगाया था कि एक संत ने कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न कर उनका जीवन बर्बाद कर दिया है। फेसबुक पर लाइव वीडियो में स्‍वामी चिन्‍मयानंंद पर आरोप लगाने के बाद यह लड़की रहस्यमंय ढ़ंग से लापता हो गई थी।

यह भी पढ़ें: डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव में दिखी महिला सशक्तिकरण की झलक, पहुंची तीन वर्षों की महिला टॉपर्स, राष्ट्रपति के सचिव रहे मुख्य अतिथि

पिता का आरोप और एफआईआर

लड़की के गायब होने के बाद उसके पिता ने आरोप लगाया कि डीएम और एसपी सभी मामले को चिन्मयानंद के दबाव में दबा रहे हैं और एफआईआर तक नहीं दर्ज कर रहे हैं। जब मामला मीडिया में छाया तो फिर किसी तरह FIR दर्ज की गयी लेकिन सिर्फ अपहरण की धारा में। लड़की के पिता ने आरोप लगाया कि दुराचार की शिकायत के बावजूद एफआईआर में ये धारायें नहीं जोड़ी गयी और न ही एक भी बार स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की गयी। 

सुप्रीम कोर्ट ने जब लिया संज्ञान तो हरकत में आयी यूपी पुलिस

उन्नाव रेप कांड मामले में जलालत झेल चुकी यूपी पुलिस हरकत में तब आयी जब देश की सबसे बड़ी अदालत ने इस मामले में दखल दिया। कुछ महिला वकीलों के एक समूह ने सुप्रीम कोर्ट से स्वत: संज्ञान लेने का अनुरोध किया था। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाली छात्रा तीन दिनों से गायब है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले में संज्ञान लिया। जस्टिस आर भानुमति की पीठ में यह मामला सुना जाना है। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार