कश्मीर में आतंकियों ने पहले अफसर को किया अगवा और फिर कर दी हत्या

डीएन संवाददाता

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों का एक शर्मनाक चेहरा सामने आया है आतंकियों ने पहले तो भारतीय सेना के एक लेफ्टिनेंट का अपहरण किया और फिर गोलियों से मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया।

लेफ्टिनेंट उमर फयाज
लेफ्टिनेंट उमर फयाज

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के शोपियां इलाके में आतंकियों ने छुट्टी में घर गए सेना के लेफ्टिनेंट की बर्बर तरीके से हत्या कर दी। आतंकियों ने पहले तो उसे शादी समारोह से अगवा किया और फिर गोलियों से छलनी कर जवान का शव दक्षिणी कश्मीर के हरमन क्षेत्र में फेंक दिया। इस घटना के बाद सेना ने कश्मीर में छुट्टी पर गए जवानों को अलर्ट कर दिया है।

कुलगाम के रहने वाले लेफ्टिनेंट उमर फयाज छुट्टी पर अपने घर गये थे। मंगलवार रात वह बेहिबाग के पास बातापुरा में अपने चाचा की बेटी की शादी में शामिल होने गए थे। यहां रात दस बजे के करीब आतंकियों ने उन्हें अगवा कर लिया। बुधवार सुबह उनकी गोलियों से छलनी लाश हरमन में मिली। 

पुलिस ने जारी किया अलर्ट

पुलिस का कहना है कि आतंकी उमर को एक बाग में ले गए। आतंकियों ने वहां उन्हें पांच गोलियां मारीं। बाद में एक स्थानीय शख्स को उनका शव मिला जिसकी जानकारी उसने पुलिस को दी। सेना ने बयान जारी कर कहा कि वह वीर जवान को सलाम करती है और दुख की घड़ी में सेना उनके परिवार के साथ खड़ी है।

कौन थे लेफ्टिनेंट उमर फयाज

लेफ्टिनेंट उमर फयाज कश्मीर के अखनूर में राजस्थान राइफल्स के यूनिट में तैनात थे। एनडीए पासआउट लेफ्टिनेंट फयाज को 10 दिसंबर 2016 को सेना में कमीशन मिला था। उमर सेना के यंग ऑफिसर्स कोर्स के लिए जाने वाले थे। फयाज एनडीए में हॉकी टीम के कैप्टन थे और वॉलिबॉल के भी अच्छे खिलाड़ी थे। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार