कानपुर में गंगा घाटों पर खुले में कपड़े बदलने को मजबूर महिलाएं..

डीएन संवाददाता

कानपुर के सरसैया घाट में गंगा में स्नान करने के लिए आने वाली महिलाएं घाटों के किनारे खुले में कपड़े बदलने को मजबूर है।

गंगा घाट पर स्नान करते भक्त
गंगा घाट पर स्नान करते भक्त

कानपुर: सावन के तीसरे सोमवार को जहां हर शिव मंदिर पर भक्तों का तांता लगा हुआ है और गंगा मे श्रद्धा की डुबकी लगाने के लिए भक्त दूर दूर से यहां आ रहे हैं। वहीं कानपुर के सरसैया घाट में गंगा में स्नान करने के लिए आने वाली महिलाएं घाटों के किनारे खुले में कपड़े बदलने को मजबूर है।

यह भी पढ़ें: निर्भया योजना के तहत यूपी में चलेंगी पिंक बसें

सावन के तीसरे सोमवार के खास मौके पर सरसैया घाट पर भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी जहां गंगा में स्नान करने के लिए महिलाओं के लिए कोई उचित व्यवस्था नही है। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि महिलाएं स्नान करने के बाद घाटों के किनारे खुले में कपड़े बदलने को मजबूर हैं जहां एक तरफ जिला प्रशासन घाटों पर चेंज रूम दुरुस्त करने की बात कहता है वहीं ये तस्वीरें जिला प्रशासन का मुंह चिढ़ा रही हैं।

यह भी पढ़ें: ऐसी दुकान जहां चाय पीने से बेहोश हो गये 41 लोग

जिला प्रशासन के आदेशों की उड़ाई जा रही धज्जियां

गंगा की स्वच्छता को लेकर जिला प्रशासन लगातार गंगा को स्वच्छ रखने के लिए अभियान चला रही है। दूसरी तस्वीरों में देखा जा सकता है कि घाटों किनारे महिलाएं घाटों के किनारे कपड़े धो रही है। जबकि जिला प्रशासन स्वच्छ और अविरल गंगा के लिए घाटों पर सख्त आदेश दे चुका है कि कोई घाटों पर कपड़े नही धोएगा और ताकि घाटों पर किसी प्रकार की गंदगी न हो। इन लोगों को आदेशों का डर बिलकुल नही है और लगातार आदेशों का उल्लंघन किया जा रहा है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार