जानें क्यों मनाया जाता है वेलेंटाइंस डे, इस दिन का महत्व व कहानी

डीएन ब्यूरो

आज पूरे देश में वैलेंटाइन डे की धूम मची है। वैलेंटाइन डे हर साल फरवरी की 14 तारीख को मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने चाहने वालों को गिफ्ट देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं। पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

 नई दिल्ली: आज पूरे देश में वैलेंटाइन डे की धूम मची है। वैलेंटाइन डे हर साल फरवरी की 14 तारीख को मनाया जाता है।  इस दिन लोग अपने चाहने वालों को गिफ्ट देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं।

आज हम आपको इस रिपोर्ट में बताने जा रहे हैं कि वेलेंटाइंस डे क्यों मनाया जाता है और इससे जुड़े इतिहास को। 

 

ऐसा कहा जाता है कि “वैलेंटाइन डे” संत वेलेंटाइन के याद में ही मनाया जाता है। बता दें कि इस दिन की शुरूआत रोम की तीसरी सदी से होती है जहां क्‍लॉडियस नाम का एक अत्याचारी राजा था।

 

क्‍लॉडियस का ऐसा मानना था कि शादी करने से पुरुषों की शक्ति और बुद्धि का खत्‍म हो जाती है और पुरूष हमेशा अपने परिवार के बारे में ही सोचते रहते है जिसकी वजह से वो काम पर ध्यान नहीं दे पाते। इसी वजह से क्‍लॉडियस ने पूरे राज्य में ऐलान किया कि उसका कोई भी सैनिक या अधिकारी शादी नहीं करेगा। अगर कोई ऐसा करते हुए पकड़ा गा तो उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जायेगी।

वहीं संत वेलेंटाइन, क्‍लॉडियस के इस बात के खिलाफ थे। उन्होंने इसका कड़ा विरोध किया और लोगों को विवाह के लिए प्रोत्साहित किया। इतना ही नहीं संत वेलेंटाइन ने कई सैनिकों और अधिकारियों का विवाह करवाया। जब इस बात की भनक क्‍लॉडियस को लगी तो उसने 14 फरवरी 269 में संत वैलेंटाइन को मौत के घाट उतार दिया गया। इसलिए संत वेलेंटाइन की याद में वेलेंटाइंस डे 14 फरवरी को मनाया जाता है। 













संबंधित समाचार