कानपुर हत्याकांड में बड़ा इनपुट: हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे के बिजनौर में होने की सूचना, हाई अलर्ट के बीच घेराबंदी शुरू

डीएन ब्यूरो

कानपुर के बिकरू गांव में हुए पुलिस हत्याकांड में फरार चल रहे हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे को लेकर एक बड़ी सूचना सामने आ रही है। संभावना है कि यह शातिर बिजनौर में है। पूरी रिपोर्ट..

विकास दुबे के विकरु गांव में भी पुलिस का पहरा
विकास दुबे के विकरु गांव में भी पुलिस का पहरा

लखनऊ: कानपुर के बिकरू गांव में हुए पुलिस हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त और मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दूबे की मौजूदगी औऱ सुराग को लेकर एक अहम खबर सामने आ रही है। बीते गुरूवार की रात जघन्य घटना को अंजाम देने के बाद से फरार चल रहे इस दुर्दांत अपराधी के बिजनौर में होने की सूचना मिल रही है। पुलिस ने इस सूचना के आधार पर अपनी घेराबंदी शुरू कर दी है। 

ऐसी जानकारी मिल रही है कि दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को बिजनौर के हल्दौर क्षेत्र में उसकी स्कॉर्पियो गाड़ी में देखा गया है। इस सूचना के बाद पूरा पुलिस महकमा हाई अलर्ट पर है। पुलिस द्वारा बिजनौर जिले की पूरी तरह घेराबंदी कर दी गई है।

सूत्रों के मुताबिक हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे के बिजनौर  होने की सूचना के बाद यूपी पुलिस के आलाअधिकारियों को भी सूचित कर दिया गया है। एसपी समेत पूरे जिले के अधिकारी और फोर्स को सड़कों पर उतारा गया है। आईजी रेंज को जानकारी दे दी गयी है। जिले से कोई संदिग्ध बाहर न जाने पाये, इसके लिये सीमाएं भी तत्काल सील कर दी गई है और वाहनों की तलाशी ली जा रही है।

जानकारी के मुताबिक यूपी-112 नंबर पर पुलिस को इस विकास दूबे से संबंधित उक्त सूचना दी गई। जिसके बाद पुलिस गहन तलाश में जुट गयी है। सूचना देने वाले नंबर की भी पड़ताल की जा रही है।

पुलिस इस कुख्यात अपराधी की गिरफ्तारी को लेकर तीन बार इनाम की राशि बढ़ा चुकी है। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने और उसकी सूचना देने वाले को पुलिस ने पहले 50 हजार, फिर एक लाख और आज ढाई लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की हुई है। यूपी पुलिस के लिये इस हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी बेहद अहम हो गयी है क्योंकि इस मामले को लेकर अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठने लगे हैं।

 








संबंधित समाचार