विवेक तिवारी हत्याकांडः आरोपी प्रशांत की आरक्षी पत्नी राखी का तबादला!

डीएन ब्यूरो

विवेक तिवारी हत्याकांड में दोषी ठहराये पुलिसकर्मी प्रशांत की आरक्षी पत्नी राखी मलिक का तबादला किए जाने की खबरें सोशल मीडिय पर तेजी से वायरल हो रही है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में जानें, आखिर क्या है सच्चाई..

आरोपी पुलिसकर्मी प्रंशात चौधरी के साथ उनकी पत्नी आरक्षी राखी मलिक (फाइल फोटो)
आरोपी पुलिसकर्मी प्रंशात चौधरी के साथ उनकी पत्नी आरक्षी राखी मलिक (फाइल फोटो)

लखनऊः  एप्पल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड के मामले में मुख्य आरोपी प्रशान्त चौधरी की पत्नी राखी मलिक का तबादला लखनऊ से बलिया जिले में कर दिये जाने की खबरें बुधवार सुबह से ही तेजी से सोशल मीडिय पर वायरल हो रही है। मीडिया में राखी के तबादले की खबरों के बाद खुद यूपी पुलिस ने स्पष्टीकरण जारी कर कहा कि तबादले की खबरें गलत है और राखी की नियुक्ति अब भी गोमतीनगर थान में ही है। बलिया में उनके तबादले की खबरों का पुलिस ने खंडन किया है। 

यह भी पढ़ेंः विवेक तिवारी की सहकर्मी सना ने बताई बेरहम पुलिस वालों और मनहूस रात की खौफनाक कहानी

बता दें कि विवेक पर गोली चलाने वाले आरोपी पुलिसकर्मी प्रशान्त चौधरी के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में उसकी आरक्षी पत्नी राखी मलिक ने पिछले दिनों वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर हंगामा किया था। और मामले में एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाया था। इस दौरान मौके पर पहुंची मीडियाकर्मियों को भी राखी मलिक ने भला-बुरा कहा था। हंगामे को बढ़ता देख गोमतीनगर पुलिस उसे थाने में ले गई थी।  

यह भी पढ़ेंः विवेक तिवारी हत्याकांडः एसआईटी ने घटनास्थल से जुटाए साक्ष्य

जिसके बाद प्रशान्त को मामले से बचाने के लिए उनकी मां व परिवार के दूसरे सदस्य भी गोमतीनगर थाने में पहुंचे थे। बता दें कि राखी गोमती की तैनाती गोमतीनगर थाने में की गई थी। हत्याकांड मामले को तूल पकड़ता देख राखी का कहना था कि उसका पति प्रशांत चौधरी शुक्रवार रात जिस दिन यह घटनाक्रम घटा था वह अपनी ड्यूटी पर तैनात था। ऑन ड्यूटी के दौरान गोमतीनगर के पॉश इलाके में जब वह बाइक से गश्त लगा रहा था तो उसे लगा सुनसान सड़क पर गाड़ी को देखकर संदेह हुआ। इस पर जब प्रशांत ने गाड़ी चालक को गाड़ी रोकने के लिए कहा तो वह नहीं रुका।   

यह भी पढ़ेंः DN Exclusive: जानिये.. यूपी पुलिस ने कब-कब किए फर्जी एनकाउंटर और खाकी हुई दागदार

जिस पर उसका पीछा करते हुए प्रशांत ने अपनी आत्मरक्षा के लिए कार सवार विवेक पर चलाई थी। प्रशांत का इरादा विवेक को मारने का नहीं था। अब मामले में हंगामे को बढ़ते देख गोमतीनगर से आरक्षी राखी मलिक का तबादला बलिया जिले में कर दिया गया है। 

वहीं विवेक पर गोली चलाने वाले आरोपी सिपाही प्रशांत को गिरफ्तार कर उसे बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं मामले में एसआईटी हर एंगल से गहनता से जांच कर रही है। इसके लिए घटनास्थल पर खुद विवेक की पत्नी और जिस दिन वारदात हुई थी तब विवेक के साथ कार में बैठी एकमात्र गवाह सना खान को भी घटनास्थल पर ले जाया गया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार