Kanpur Encounter: गैंगस्टर विकास दूबे की गिरफ्तारी में नाकाम UP पुलिस से CM योगी नाराज, हर कार्रवाई पर नजर

डीएन ब्यूरो

कानपुर पुलिस हत्याकांड के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दूबे की गिरप्तारी के लिये यूपी पुलिस की 50 से टीमें काम कर रही हैं लेकिन परिणाम अब तक सिफर हैं, जिस कारण सीएम योगी नाराज बताये जा रहे हैं। पढिये, स्पेशल रिपोर्ट..

वांछित अपराधी के लिये पुलिस द्वारा मुखबरी करने से भी नाराज हैं सीएम योगी
वांछित अपराधी के लिये पुलिस द्वारा मुखबरी करने से भी नाराज हैं सीएम योगी

लखनऊ: यूपी में 8 पुलिस कर्मियों का हत्या में मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दूबे छठवें दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इस कुख्यात अपराधी को दबोचने के लिये भले ही पुलिस दिन-रात मेहनत कर रही है लेकिन परिणाम सिफर होने के कारण सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पुलिस से बेदह नाराज बताये जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि वे अब इस मामले में खुद हर अपडेट लेने में जुट गये हैं और पुलिस की कार्यवाहियों पर भी नजर लगाये हुए हैं।

कुख्यात गैंगस्टर की गिरप्तारी के लिये यूपी पुलिस की लगभग 60 टीमें काम कर रही हैं। यूपी के अलावा दिल्ली-एनसीआर, एमपी, राजस्थान, हरियाणा समेत कई राज्यों में पुलिस टीमें काम कर रही है लेकिन पुलिस को अभी तक विकास दूबे का कोई पक्का सुराग तक हाथ नहीं लगा। हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे को लेकर पुलिस की नाकामी से सीएम योगी बेहद नाराज बताये जा रहे है। डाइनामाइट न्यूज के लखनऊ संवाददाता के मुताबिक पुलिस की इस असफलता को लेकर सीएम डीजीपी से लेकर पुलिस के सभी आला अधिकारियों और यहां तक गृह विभाग के उच्चाधिकारियों से भी खफा बताये जा रहे हैं।

डाइनामाइट न्यूज को मिली जानाकीर के अनुसार दरअसल,यूपी में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या और इस हत्याकांड में पुलिस की अंदरूनी लडाई, अपराधी के लिये पुलिस की मुखबरी जैसी बातें सामने आने से सीएम पहले ही नाराज बताये जा रहे थे, लेकिन अब मुख्य अपराधी की गिरफ्तारी में पुलिस की नाकामी से उनका गुस्सा लगातार बढता जा रहा है। विपक्षी दल योगी सरकार पर तभी से हमलावर हैं, जबसे यह जघन्य हत्याकांड सामन आया है। लेकिन गैंगस्टर विकास दूबे के गिरफ्तार न होने से विपक्षी दलों का सीएम योगी पर निशाना तेज हो गया है औऱ सरकार पर सवाल उठाये जा रहे हैं। 

हालांकि राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोपों को छोड़कर सीएम योगी की सबसे बड़ी नाराजगी अपने पुलिस विभाग को लेकर है। राज्य में अपराध और अपराधियों को लेकर जीरो टोलरेंस पर काम करने वाले योगी इतने बड़े हत्याकांड को लेकर पहले ही गुस्से में थे। लेकिन अब एक सप्ताह बीतने को है और पुलिस के हाथ खाली हैं, तो ऐसे में सीएम का गुस्सा बढना स्वाभाविक भी है।   

बताया जा रहा है कि सीएम योगी अब इस मामले में खुद भी पुलिस पर नजरें गड़ाये हुए हैं।  गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर चल रही छापामारी का हर वह अपडेट खुद ले रहे हैं। वे पुलिस को पहले ही इस मामले में अपराधी के खिलाफ कानूनी तौर पर कठोर से कठोर कार्यवाही करने की हिदायत दे चुके हैं। वे अब किसी भी कीमत पर इसमें कोताही नहीं चाहते हैं। अब देखना होगा कि यूपी पुलिस सीएम योगी को इस मामले में कब तक कोई संतोषजनक खबर सुनाती है। 
 








संबंधित समाचार