डाइनामाइट न्यूज़ का स्टिंग ऑपरेशन, डॉक्टर की काली करतूत जगजाहिर

डीएन संवाददाता

किसी को यकीन भी नहीं होगा कि एक डॉक्टर इतनी छोटी हरकत कर सकता है और अपने पेशे को दागदार बना सकता है। डाइनामाइट न्यूज़ के इस स्टिंग ऑपरेशन में देखें डॉक्टर की काली करतूत..


सुल्तानपुर: प्रदेश में घूसखोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। घूसखोरी का ताजा मामला प्रतापपुर के सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र का है। डाइनामाइट न्यूज़ की टीम के स्टिंग आपरेशन के बाद पता चला कि डाक्टर खुलेआम रिश्वत ले रहा है। यह कमैचा के एक डाक्टर का है, जिसमें डाक्टर ने खुलेआम रिश्वत के रूप में 400 रुपए लिए और मेडिकल सार्टिफिकेट जारी किया।

जानकारी के मुताबिक चांदा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव का एक युवक दिल्ली में एक निजी कम्पनी मे नौकरी करता है। छुट्टियों में वो घर पर आया था और किन्हीं कारणों से वो समय से काम पर नहीं जा सका। इस कारण उसे मेडिकल बनवाने की जरूरत पड़ी।

युवक मेडिकल सार्टिफिकेट बनवाने के लिए स्वास्थ केन्द्र पहुंचा। यहां तैनात डॉ. राम सजीवन से उसने अपना मामला बताया। डाक्टर ने इसके लिए 500 रूपए मांगे। युवक और डॉक्टर के बीच काफी देर तक रूपये लेन-देन के लिए बहस होती रही। काफी देर जद्दोजहद और मिन्नतों के बाद भी डॉक्टर ने रूपए कम नहीं किए। इसके बाद मजबूर युवक ने डॉक्टर को रूपए देकर सर्टिफिकेट बनाने के लिए कहा। फिर न जाने डाक्टर को क्या सूझी उन्होंने युवक को सर्टिफिकेट देते हुए 100 रुपए लौटा दिए। इसका मतलब 400 रूपए की घूस लेकर सर्टिफिकेट बनाने की फाइनल डील हुई।

रिश्वत लेता डॉक्टर

युवक ने इस पूरी घटना को अपने कैमरे में कैद कर लिया। डॉक्टर बड़ें आराम से  घूस ले रहा था, लेकिन उसे क्या पता था कि उसकी ये काली करतूत कैमरे में कैद हो रही थी।

सीडीओ बोले कराई जाएगी जांच

इस मामले में सीडीओ रामयज्ञ मिश्रा ने कहा कि मामला गम्भीर है कि सरकारी कर्मचारी खुलेआम रिश्वत लेकर सर्टिफिकेट जारी कर रहे हैं। इसकी जांच कराई जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना पर नकेल कसने के लिए बीच-बीच में औचक निरीक्षण भी किया जाएगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार