सोनभद्र नरसंहार: पीड़ितों से मिलने पहुंचे योगी आदित्‍यनाथ के दौरे की मुख्‍य बातें

डीएन ब्यूरो

यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ आज उम्भा गांव में बुधवार को जमीन पर कब्जे को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गये लोगों के परिजन से मिलने पहुंचे थे। जहां उन्‍होंने एक प्रेस कांफ्रेंस के माध्‍यम से सारी बातों लोगों के सामने रखीं। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें प्रमुख बिन्‍दु..

सोनभद्र के उम्‍भा गांव में पीड़ि‍तों से मिलते सीएम योगी आदित्‍यनाथ
सोनभद्र के उम्‍भा गांव में पीड़ि‍तों से मिलते सीएम योगी आदित्‍यनाथ

सोनभद्र: यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ आज उम्भा गांव में बुधवार को जमीन पर कब्जे को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गये लोगों के परिजन से मिलने पहुंचे थे। इस दौरान सीएम ने बारी-बारी से मृतकों के एक-एक परिजनों से मुलाकात की। 

सीएम घटनास्थल पर पहुंचे और घटना के मुख्य गवाह राजाराम से मुलाकात कर घटना की जानकारी लेते हुए मौके पर मौजूद डीजीपी से उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कहा। साथ ही गांव में एक अस्थाई पुलिस चौकी खोले जाने की बात भी कही। 

पीड़ि‍तों से बातचीत करते सीएम 

वहीं पीड़ि‍तों के बच्चों को गोद में उठाकर दुलारते हुए पूछा कि स्कूल जाते हो कि नहीं, स्कूल जाया करो, पढ़ोगे तभी तो साहब बनोगे।

मुलाकात के बाद उन्‍होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस सहित विराधी दलों पर हमला करते हुए कहा कि उनकी सरकार इस वारदात की तह तक जाएगी और घड़ियाली आंसू बहाने वालों का पर्दाफाश करेगी।

सीएम के संबोधन के दौरान मौके पर मौजूद ग्रामीण

आइये जानते हैं मुख्‍य बातें -

  • राजनीतिक साजिश की देन है उंभा की घटना, कांग्रेस केवल घड़ियाली आंसू बहा रही है। उन्‍हीं की देरी के कारण हुई इतनी बड़ी घटना। 
  • नरसंहार कांड का मुख्य आरोपित मुर्तिया का ग्राम प्रधान यज्ञ दत्त सपा का कार्यकर्ता रहा है। उसे कठोर सजा मिलेगी। वहीं उसका भाई बसपा से जुड़ा रहा है। 
  • घटना में मारे गए आदिवासियों के परिजनों को 18.5 लाख रुपये प्रति परिवार और घायलों को 2.5 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। 
  • सरकार की और हमारी पूरी संवेदना पीड़ित आदिवासियों के परिवार के साथ हैं। आदिवासियों, वनवासियों की सुरक्षा और उनका अधिकार दिलाना सरकार की पहली प्राथमिकता है।
  • घोरावल में एक अग्निशमन केंद्र भी खोला जाएगा साथ ही जिले के आदिवासियों और मुसहर लोगों को आवास, राशन कार्ड, शौचालय व अन्‍य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। 
  • दो नए स्‍कूलों का होगा निर्माण, जिसमें बालकों और बालिकाओं को छात्रावास की सुविधा मिलेगी। साथ ही जिले में तीन स्किल डेवलेपमेंट सेंटर खोले जाएंगे। 
  • कोन, करमा को ब्लाक व ओबरा को तहसील बनाया जाएगा। साथ ही पूरे विंध्य क्षेत्र में पाइप लाइन पेयजल योजना का विस्‍तार किया जाएगा। 
  • 1952 से अब तक के राजस्व के विवादों को सुलझाने के लिए राजस्व परिषद के अध्यक्ष के नेतृत्व में सोनभद्र में विशेष कमेटी बनेगी। साथ ही सभी जमीन की मैपिंग की जाएगी।
     

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार