रायबरेली जेल से वायरल हुए वीडियो मामले में 6 अफसरों पर गिरी गाज

डीएन ब्यूरो

रायबरेली जिला जेल में कैदियों की अय्याशी का वीडियो सामने आने के बाद जेल अधीक्षक समेत छह अफसरों पर गाज गिरी है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट...


रायबरेली: जिला जेल के अंदर असलहा-कारतूस के बीच शराब पी रहे कुछ कैदियों का एक वीडियो वायरल होने के बाद यूपी में हड़कंप मचा हुआ है। इस मामले में जांच के बाद लापरवाही बरतने पर रायबरेली जेल अधीक्षक प्रमोद कुमार शुक्ला सहित 6 लोगों को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित किए जाने वालों में जेलर गोविंद राम वर्मा, डिप्टी जेलर राम चंद्र तिवारी, हेड जेल वार्डर लालता प्रसाद उपाध्याय, जेल वार्डर गंगा राम और शिव मंगल सिंह के नाम शामिल हैं।      

 

 

यह भी पढ़ें: रायबरेली की जेल में बंद कैदियों की महफिल का वीडियो वायरल

रविवार रात डीएम संजय खत्री और एसपी सुजाता सिंह ने जेल में छापा मारा था। जिसमे तमाम प्रतिबंधित वस्तुएं बरामद हुई हैं। रायबरेली शहर कोतवाली में 4 अपराधियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। वीडियो के सामने आने के बाद फजीहत से बचने के लिए जेल प्रशासन ने 3 दिन पहले ही अपराधियों का गैर जिला ट्रांसफर कर दिया।

यह भी पढ़ें:रायबरेली: जेल में कैदियों की अय्याशी का वीडियो सामने आने पर देखें क्या बोले एडीजी जेल, चंद्रप्रकाश

 वीडियो में मनपसंद शराब और पैसे मंगवाने वाला शख्स अंशु दीक्षित है। बताया जा रहा है जो सीतापुर, लखीमपुर, लखनऊ हरदोई, प्रतापगढ़ और इलाहाबाद में लूट-हत्या की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। 

 

लखनऊ विश्वविद्यालय छात्र नेता विनोद त्रिपाठी की हत्या के मामले में अंशु दीक्षित का नाम सामने आया था। वीडियो में अंशु दीक्षित के साथ अजीत चौबे, सिंगार सिंह, सोहराब और निखिल सोनकर नजर आ रहे हैं। यह अपराधी बैरक नंबर 10 में बिना किसी भय के साथ शराब और चखने के साथ पार्टी कर रहे हैं। रायबरेली जिला जेल प्रशासन की मिलीभगत से इन अपराधियों को जिला जेल में मनमाना खाना, शराब और उसके साथ चखना भी मिल रहा है। खास बात यह है कि, जेल में बंद अपराधी फोन पर अपने साथी को 10  हजार रुपये में से 5 हजार रुपए डिप्टी जेलर को देने की बात कह रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार