समायोजन का मामला: शिक्षामित्रों के लिए जीवन-मरण का प्रश्न, राज्य भर में प्रदर्शन

डीएन ब्यूरो

समायोजन के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध कर रहे उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्र ‘करो या मरो’ की नीति के तहत सड़कों पर हैं। पूरे राज्य में प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में शिक्षामित्रों की तबीयत भी खराब हुई, फिर भी उनका आंदोलन जारी है। विरोध-प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्र सरकार से इस मसले पर सकारात्मक हल चाहते हैं।

प्रदर्शन करते शिक्षामित्र
प्रदर्शन करते शिक्षामित्र

लखनऊ: समायोजन पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ शिक्षामित्रों का पूरे राज्य में आंदोलन जारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपील के बाद भी आंदोलरनरत शिक्षामित्र किसी तरह की नरमी नहीं बरत रहे हैं। बल्कि, रोजाना उनके प्रदर्शनों में नए-नए तरीके व तेवर दिखाई दे रहे हैं।

फतेहपुर के विधायक के घर के बाहर प्रदर्शन करते शिक्षामित्र

पूरे प्रदेश के विभिन्न शहरों व कस्बों में शिक्षामित्रों ने धरना-प्रदर्शन, पुतला दहन, पदयात्रा, बाइक रैली, सड़क जाम के साथ मंत्री-सांसद व विधायकों के आवासों का घेराव जारी है। इस दौरान शिक्षामित्रों ने अर्धनग्न स्थिति में सड़कों पर प्रदर्शन किया। शिक्षामित्रों के आंदोलन की धार बड़े शहरों की अपेक्षा कस्बाई क्षेत्रों में अधिक दिखाई दे रही है।

इलाहाबाद क्षेत्र में शिक्षामित्रों का उग्र प्रदर्शन

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के तत्वावधान में शंकरगढ़, कौंधियारा, जसरा, करछना, चाका ब्लाक में शिक्षामित्रों ने उग्र प्रदर्शन किया। इन क्षेत्रों में सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्र सड़क पर उतरे। जसरा में शिक्षामित्रों ने एक कार्यक्रम में पहुंचे राज्य के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री मनोहर उर्फ मन्नू कोरी का घेराव किया। इस दौरान मंत्री ने मसले पर सीएम से बातचीत करने का आश्वासन दिया।

कानपुर में शिक्षामित्रों ने किया लखनऊ हाईवे जाम

राजधानी लखनऊ व आसपास के जिलों में प्रदर्शन, सांसद लल्लू सिंह का घोराव

सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्र फैजाबाद के सांसद लल्लू सिंह के आवास पर पहुंचे व घेराव किया। सुल्तानपुर में भी शिक्षामित्रों का प्रदर्शन दिनभर चला। अंबेडकरनगर में शिक्षामित्रों ने पैदल मार्च निकाल टांडा मार्ग को जाम कर दिया। गोंडा में अर्धनग्न होकर शिक्षकों ने प्रदर्शन किया और गोंडा-लखनऊ हाईवे जाम कर दिया। बहराइच में भी शिक्षामित्रों ने बहराइच-लखनऊ हाईवे जाम किया। बाराबंकी में भी शिक्षामित्रों ने प्रदर्शन किया। हरदोई, लखीमपुर, पीलीभीत में भी शिक्षामित्रों ने प्रदर्शन जारी रहा।

आगरा क्षेत्र में भी शिक्षामित्र सड़कों पर डटे रहे   

शिक्षामित्रों ने आगरा रीजन के कई जिलों व कस्बाई इलाकों में प्रदर्शन किया। फतेहाबाद में क्षेत्रीय विधायक जितेंद्र वर्मा के आवास पर पहुंचे शिक्षामित्रों ने उन्हें ज्ञापन सौंपा। मथुरा में रैली निकाल कर सड़क को जाम कर दिया। प्रदर्शन के दौरान दो शिक्षामित्रों की तबीयत भी खराब हो गई। इसके बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सीएम योगी के गृहनगर गोरखपुर मंडल के विभिन्न जिलों में भी शिक्षामित्रों ने प्रदर्शन किया। देवरिया में धरनारत उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ की जिलाध्यक्ष रेणु तिवारी अचानक बेहोश हो गईं। उन्हें गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार