Ahmed Patel: अहमद पटेल की इस अंतिम इच्छा पर गुजरात में उनके पैतृक गांव ले जाया जायेगा उनका पार्थिव शरीर

डीएन ब्यूरो

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अहमद पटेल का आज सुबह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया है। अहमद पटेल का पार्थिव शरीर उनकी एक अंतिम इच्छा पर उनके पैतृक गांव ले जाया जायेगा। पढिये, डाइनामाइट न्यूज की पूरी रिपोर्ट

अहमद पटेल (फाइल फोटो)
अहमद पटेल (फाइल फोटो)


नई दिल्ली: वरिष्ठ  कांग्रेसी नेता अहमद पटेल का आज सुबह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया है। कांग्रसे पार्टी के सबसे भरोसेमंद सिपाही माने जाने वाले अहमद पटेल पिछले एक महीने से कोरोना संक्रमण से जूझ रहे थे और उनकी तबियत लगातार खराब चल रही थी। उनके निधन पर देश के कई नेताओं ने शोक जताया है।

जानकारी के मुताबिक अहमद पटेल का पार्थिव शरीर उनकी अंतिम इच्छा पर उनके पैतृक गांव ले जाया जायेगा। गुजरात के भरूच स्थित उनके पैतृक गांव पीरामन में ही उनको सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा। 

बताया जाता है कि अहमद पटेल की यह अंतिम इच्छा थी कि उन्हें उनको भी उनके माता-पिता के साथ ही दफन किया जाए। इस बारे में अहमद पटेल ने अपने बेटे फैजल पटेल से बताया था। फैजल पटेल ने ही आज सुबह ट्वीट करके अपने पिता के निधन की जानकारी दी थी।

वर्ष 1977 में इमरजेंसी के दौरान 26 साल की उम्र में लोकसभा पहुंचे अहमद पटेल ने राजनीति के कई शिखरों को छुआ। महज 26 साल की उम्र में भरुच से लोकसभा चुनाव जीतकर तब अहमद पटेल देश के सबसे युवा सांसद बने थे। उनकी इस जीत ने इंदिरा गांधी समेत सभी राजनीतिक पंडितों को चौंका दिया था।

अहमद पटेल कांग्रेस से तीन बार लोकसभा सांसद और पांच बार राज्यसभा सांसद चुने गये। उन्हें जहां कांग्रेस का संकटमोचक भी माना जाता था वहीं सोनिया गांधी समेत पूरे गांधी परिवार के वह खास विश्वासपात्र भी थे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी समेत देश के कई बड़े राजनेताओं समेत प्रमुख हस्तियों ने अहमद पटेल के निधन पर दुख व्यक्त किया है। 
 









संबंधित समाचार