सरकार पर संकट के बीच मुख्यमंत्री गहलोत ने सभी मंत्रियों और विधायकों को बुलाया जयपुर, रात को मीटिंग

डीएन ब्यूरो

अपनी सरकार पर मंडरा रहे खतरों के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने सभी मंत्रियों और विधायकों को जयपुर पहुंचने का आदेश जारी किया है। पूरी खबर..

अशोक गहलौत, सीएम, राजस्थान (फाइल फोटो)
अशोक गहलौत, सीएम, राजस्थान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सरकार पर मंडरा रहे संभावित संकटों के बादलों के बीच  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने सभी मंत्रियों और विधायकों को जयपुर पहुंचने का आदेश जारी किया है। कांग्रेस सरकार के सभी मंत्रियों और विधायकों से कहा है कि वह अपने क्षेत्र को छोड़कर आएं और वहां भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने के लिए मुख्यमंत्री निवास पहुंचे। मुख्यमंत्री गहलौत भाजपा पर उनकी राजस्थान सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगा चुके है। जिसके मद्देनजर उनका यह आदेश बेहद अहम माना जा रहा है।

मुख्यमंत्री गहलौत ने सभी कांग्रेस विधायकों के साथ आज रात 9 बजे एक बैठक बुलाई है। इस बैठक में संभवत सरकार पर छाये संकट को लेकर चर्चा की जायेगी और आगे की रणनीति बनाकर सरकार को बचाने के उपाय खोजे जाएंगे। 

मुख्यमंत्री गहलौत रविवार सुबह से ही अपने आवास पर कांग्रेसी विधायकों और मंत्रियों से मिल रहे हैं। आज सुबह 10:00 बजे से सभी विधायकों से मिलने का उनका सिलसिला जारी है।

इस बीच राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के मुताबिक कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री गहलोत ने साफ किया कि सरकार को बचाने की जिम्मेदारी सब पर है। प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दिल्ली गए विधायकों के संपर्क में हैं। सचिन पायलट हमारे प्रदेश अध्यक्ष हैं। अगर कोई विधायक उनके साथ गया है तो इसका मतलब यह नहीं है कि अशोक गहलोत के खिलाफ गया है।  

उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी हमारी सरकार को गिराने में लगी हुई है। मगर मुख्यमंत्री सभी परिस्थितियों पर नजर रखे हुए हैं। हम सभी एकजुट है और भाजपा को उसके मकसद में सफल नहीं होंने देंगे।

इस बीच अशोक गहलोत ने एक ट्वीट कर राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की तरफ से कांग्रेस विधायकों, सीएम, डिप्टी सीएम को नोटिस भेजे जाने पर सफाई दी है। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'एसओजी को जो कांग्रेस विधायक दल ने बीजेपी नेताओं द्वारा खरीद-फरोख्त की शिकायत की थी उस संदर्भ में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, चीफ व्हिप एवम अन्य कुछ मंत्री व विधायकों को सामान्य बयान देने के लिए नोटिस आए हैं। कुछ मीडिया द्वारा उसको अलग ढंग से प्रस्तुत करना उचित नहीं है।' 
 













संबंधित समाचार