रायबरेली: NTPC में CISF के कड़े पहरे में भी बड़ी चोरी, जनता बोले- मिलीभगत के बिना यह संभव नहीं

डीएन संवाददाता

ऊंचाहार में स्थित नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन में CISF के कड़े पहरे के बाद भी आये दिन हो रही चोरियों को लोकर तरह-तरह के सवाल उठाये जा रहे है। लोगों का मानना है कि चोरी की यह घटना बिना किसी मिलीभगत के नहीं हो सकती। पूरी खबर..

एनटीपीसी (फाइल फोटो)
एनटीपीसी (फाइल फोटो)

रायबरेली: नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) में आए दिन हो रही चोरी की घटनाओं को लेकर ऊंचाहार में हड़कंप मचा हुआ है। एनटीपीसी में चारों ओर से केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की पुख्ता सुरक्षा होने के बावजूद भी चोरों ने कड़ी सुरक्षा में सेंध लगा डाली और स्टार्टर वाइंडिंग वायर आदि चुराकर रफूचक्कर हो गए। चोरी किये गये माल की कीमत करीब 1 करोड़ 85 लाख 90 हजार बताई जा रही है। एनटीपीसी ने चोरी को लेकर पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है।

आए दिन हो रही चोरियों के कारण एनटीपीसी और सीआईएसएफ दोनों ही सवालों के घेरे में है। स्थानीय लोग यहां बढ़ रही चोरी की घटनाओं को लेकर काफी आशंकित है। उनका कहना है कि चोरी कौन करवाता है और कौन चोरों को संरक्षण दे रहा है, यह काफी बड़ा सवाल है।

स्थानीय लोगों का मांग है कि चोरी की इन बढ़ती घटनाओं की CBI जांच होनी चाहिए। लोगों का शक है कि इन चोरियों में NTPC के ही किसी कर्मचारी का हाथ हो सकता है क्योंकि इनकी सांठगांठ पुलिस और अर्धसैनिक बलों से हमेशा बनी रहती है। 

एनटीपीसी में जिस तरह की सुरक्षा है, उसे देखकर कहा जा सकता है कि वहां कोई परिंदा भी पर नहीं मार सकता, ऐसे में चोरी की बढ़ती घटनाओं को लेकर अंदर के ही लोगों पर सवाल उठने लाजमी है।  

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार