चंद्रग्रहण के दिन गर्भवती महिलाएं ना करें ये काम, नहीं तो बच्चे पर पड़ेगा बुरा असर

डीएन ब्यूरो

मंगलवार रात को इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण लगने वाला है। यह आंशिक चंद्रग्रहण होगा जिसे अरुणाचल प्रदेश के दुर्गम उत्तर पूर्वी हिस्सों को छोड़कर देश भर में देखा जा सकेगा। यह रात एक बजकर 31 मिनट से शुरू होकर चार बजकर 30 मिनट तक रहेगा। इस समय गर्भवती महिलाओं को कुछ बातों का खास ध्यान रखना पड़ता है, जिससे उनके होने वाले बच्चे पर बुरा असर ना पढ़ें। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ की विशेष खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: 16 जुलाई अषाढ़ शुक्लपक्ष पूर्णिमा दिन मंगलवार को लगने वाला खग्रास चन्द्र ग्रहण जिसका विवरण इस प्रकार है। ग्रहण रात 01:31बजे से शुरू होगा और ग्रहण मोक्ष रात 04:30 बजे तक रहेगा। ग्रहण कुल 02:59 घण्टे तक रहेगा। ग्रहण का सूतक 9 घण्टे पहले यानि की शाम 04:30 बजे से शुरू होगा।16 जुलाई 2019 के शाम को होने वाली पूजा अर्चना शाम 04:00 बजे तक पूरा कर लिया जाएगा। 

ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इससे उनके होने वाले बच्चे पर असर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि चंद्रग्रहण के समय गर्भवती महिलाएं इन बातों का ध्यान रखें, नहीं तो होने वाला बच्चा अंधा हो सकता है, उसे कम दिखाई दे सकता है, उसके शरीर और चेहरे पर कहीं पर कटने का निशान बन जाएगा या किसी और तरह का नुकसान हो सकता है।

1- इस समय गर्भवती महिलाओं को चांद को नहीं देखना चाहिए।
2- सूतक लगने के बाद से चाकू से दूर रहें, चाकू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
3- गैस नहीं जलाना चाहिए। 
4- मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और टीवी, एसी के रिमोट से दूर रहना चाहिए।
5- किसी दरवाजे की कुंडी ना बंद करनी चाहिए और ना ही खोलनी चाहिए।
6- ग्रहण के समय अगर गर्भवती महिला सोते हैं तो उन्हें  सीधा सोना चाहिए। साथ ही अपने पास सुखा नारियल भी रखना चाहिए।
7- ग्रहण के समय धार्मिक पुस्तकें पढ़नी चाहिए।
8- अपनी बराबरी का नापा हुआ धागा जिस कमरे में आप रहती हैं वहां दिवार पर सटा दें।
9- बिजली के स्वीच को ऑन-ऑफ करने से बचें

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार