DN Exclusive: राम मंदिर निर्णय के बाद ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी ने की ये बड़ी भविष्यवाणियां

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

देश और समाज के लिए समय-समय पर की गयी अपनी भविष्यवाणियों से लोगों को चौंकाने वाले ज्योतिष शास्त्र के प्रख्यात ज्ञाता डा. शंकर चरण त्रिपाठी, राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाये गये निर्णय के बाद से चर्चा में है। उन्होंने एक बार फिर दो चौंकाने वाली भविष्यवाणियां डाइनामाइट न्यूज़ पर की हैं। एक्सक्लूसिव खबर:

ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी (फाइल फोटो)
ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: 11 मार्च 2017 को यूपी विधानसभा के नतीजों के ठीक एक दिन बाद डाइनामाइट न्यूज़ पर जाने-माने नक्षत्र गतान्वेषी डा. शंकर चरण त्रिपाठी ने ऐलान किया था कि M और A नाम के व्यक्ति को यूपी की राजगद्दी मिलने जा रही है। इसके एक सप्ताह बाद भाजपा हाईकमान ने कई दिग्गजों को छोड़ ‘महंत योगी आदित्यनाथ’ को यूपी का ताज देने का ऐलान किया। उस वक्त योगी का नाम दूर-दूर तक चर्चा में नहीं था। लोग मनोज सिन्हा से लेकर राजनाथ सिंह, केशव मौर्य और डा. दिनेश शर्मा के नाम की अटकलें लगा रहे थे।

यह भी पढ़ें: डाइनामाइट न्यूज़ का बजा डंका, योगी आदित्यनाथ ही बने सीएम, एक सप्ताह पहले ही डाइनामाइट न्यूज़ ने कर दिया था ऐलान

योगी के 19 मार्च 2017 को शपथ लेने के बाद डा. त्रिपाठी ने उनका भविष्य बांचते हुए कहा था कि इनका कार्यकाल 4 साल और 11 महीने का होगा। यह बात आज सटीक साबित होती दिख रही है। सपा-बसपा महागठबंधन के कारण लोकसभा चुनाव के पहले काफी अटकलें थीं कि यदि परिणाम भाजपा के खिलाफ गया तो योगी को बदलने में भाजपा हाईकमान देरी नहीं करेगा।

जब योगी के नाम का ऐलान हुआ तो इस निर्णय पर अधिकांश लोग चौंक गये क्योंकि पांच बार के सांसद रहने के बावजूद योगी को हाईकमान ने कभी तवज्जो नहीं दी। नेतृत्व ने संगठन से लेकर मंत्रिमंडल तक में हमेशा उन्हें हाशिये पर रखा। वह तो आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की ‘कृपा’ थी, जिसकी वजह से योगी को राजसिंहासन नसीब हुआ।

यह भी पढ़ें: इस तरह हासिल हुई योगी को मोहन भागवत की कृपा

डा. त्रिपाठी ने उस वक्त कहा था, ‘योगी को यूपी की गद्दी पर बैठाने में पर्दे के पीछे ‘असली भूमिका’ मोहन भागवत की है। भागवत मानते थे कि ‘योगी-मोदी’ की जोड़ी के कार्यकाल में ही राममंदिर बनने का मार्ग प्रशस्त हो सकता है।’

किसी की भी आवाज को सुन उसकी कुंडली बना देने में महारत रखने वाले स्वर विज्ञान विशेषज्ञ डा. त्रिपाठी ने ढ़ाई साल पहले कहा था कि राम मंदिर के निर्माण और गौ-हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए विधाता ने उन्हें इस कुर्सी पर बिठाया है। जिस वक्त योगी सीएम बने थे, उस वक्त दूर-दूर राम मंदिर बनने की कोई हलचल नहीं थी।

बायें प्रतीकात्मक तस्वीर, दायें योगी (फाइल फोटो) 

शराबबंदी पर लगायेंगे योगी पूर्ण प्रतिबंध!

शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की खंडपीठ के ऐतिहासिक फैसले के बाद डाइनामाइट न्यूज़ ने एक बार फिर डा. शंकर चरण त्रिपाठी से बात की, जिसमें उन्होंने भविष्य में घटित होने वाली महत्वपूर्ण घटनाओं पर बोला है। उन्होंने कहा है कि आने वाले दिनों में योगी, उत्तर प्रदेश में गुजरात और बिहार की तरह पूर्ण शराबबंदी करेंगे।

परमाणु मिसाइल (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

परमाणु मिसाइल हमला!

सितंबर 2016 में डाइनामाइट न्यूज़ को एक मुलाकात कार्यक्रम में दिये विशेष साक्षात्कार में डा. त्रिपाठी ने जो भविष्यवाणी की थी उसे उन्होंने एक बार फिर दोहराया है। उन्होंने राष्ट्र की सुरक्षा के दृष्टिकोण से भविष्यवाणी की है कि मोदी के निकट भविष्य के कार्यकाल में जमीन के अंदर से पानी के रास्ते (पाताल लोक) से भारत पर परमाणु मिसाइल हमला होना संभावित है। इस हमले में PoK, J&K, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली-NCR के प्रभावित होने की संभावना है।   

भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु मिसाइल विस्फोट या परीक्षण या आक्रमण या प्रतिरोधात्मक प्रक्रिया 28 नवंबर से 8 फरवरी 2020 के बीच देखने को मिलने की संभावना है। डा. त्रिपाठी ने कहा कि यह मकर लग्नी भारत की कुंडली में षडाष्टक योग के कारण स्पष्ट देखा जाता है। आतंकवादियों के पास परमाणु अस्त्र जैसे हथियार आ चुके हैं। 













संबंधित समाचार