एक महीने से फरार बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी को पुलिस ने दबोचा

डीएन ब्यूरो

पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को गिरफ्तार कर लिया है। उस पर हिंसक भीड़ को भड़काने का आरोप है। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या कर दी गई थी। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें पूरी डिटेल..

गिरफ्तार मुख्य आरोपी
गिरफ्तार मुख्य आरोपी

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पिछले वर्ष 3 दिसंबर को हुई हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। योगेश राज बजरंग दल का नेता है। उस पर हिंसक भीड़ को भड़काने का आरोप है। हिंसा के बाद पिछले एक महीने से वह फरार था। बताया जा रहा है कि पुलिस ने बीती रात बजरंग दल के नेताओं की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया है। खबर यह भी है कि पुलिस योगेश राज की गिरफ्तारी को लेकर प्रेस कांफ्रेंस भी कर सकती है।

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हुई थी हत्या

3 दिसंबर को हुई हिंसा में मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी गई थी। बुलंदशहर के स्याना इलाके के गाँव में गौकशी की अफवाह फैलने से हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। आरोपियों ने पहले इस्पेक्टर पर कुल्हाड़ी से वार कर उसे घायल कर दिया था। उसके बाद गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी।

पुलिस पर कुल्हाड़ी से वार करने वाला कलुआ भी गिरफ्तार

मुख्य आरोपी योगेश राज की गिरफ्तारी से पूर्व पुलिस, इंस्पेक्टर पर कुल्हाड़ी से वार करने वाले कलुआ को भी गिरफ्तार कर चुकी है। कलुआ को पुलिस ने बीते सोमवार देर रात करीब साढ़े दस बजे गिरफ्तार किया था। उस पर तत्कालीन बुलंदशहर कोतवाल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के सिर पर कुल्हाड़ी मारकर घायल करने का आरोप है। बुलंदशहर के स्याना इलाके में हुई इस हिंसा में सुमित नाम के एक युवक की भी मौत हो गई थी।

मुख्य आरोपी योगेश राज और कुल्हाड़ी से वार करने वाले कलुआ के साथ-साथ इंस्पेक्टर को गोली मारने वाला आरोपी प्रशांत नट भी पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है। पुलिस योगेश राज, कलुआ और प्रशांत नट समेत अब तक हिंसा के लिए जिम्मेदार कुल 30 आरोपियों को सलाखों के पीछे डाल चुकी है। 

पूछताछ में कलुआ और प्रशांत नट अपना गुनाह कुबूल चुके हैं। प्रशांत नट ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि पहले कलुआ ने इंस्पेक्टर के सिर पर कुल्हाड़ी से वार कर उसे घायल कर दिया था। उसके बाद उसने इंस्पेक्टर को गोली मार दी थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार