बिहार में नीतीश ने जीता विश्वासमत

डीएन ब्यूरो

बिहार में नीतीश ने बहुमत हासिल किया

हाथ जोड़कर विधानसभा से बाहर निकलते नीतीश कुमार
हाथ जोड़कर विधानसभा से बाहर निकलते नीतीश कुमार

पटना: आखिरकार नीतीश कुमार ने भाजपा के समर्थन के साथ विश्वासमत हासिल कर लिया। इसी के साथ चार साल बाद बिहार में फिर एक बार भाजपा-जेडीयू गठबंधन की सरकार लौट आई है। नीतीश के पक्ष में 131 विधायकों ने वोट किये, जबकि उनके विरोध में 108 वोट पड़े।

यह भी पढ़ें: नीतीश ने धोखा दिया, हमें इस साठगांठ की भनक लग चुकी थी: राहुल गांधी

फ्लोर टेस्ट में पास होने से नीतीश के मुख्यमंत्री बनने की संवैधानिक औपचारिकताएं भी पूरी हो गई हैं। भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी को बिहार का उप मुख्यमंत्री बनाया गया है। नीतीश ने विधानसभा में बहुमत हासिल करने के साथ अपने विरोधियों खासकर तेजस्वी यादव और उनके पिता लालू यादव के लिए मुश्किलें भी खड़ी कर दी हैं। बिहार में नीतीश-मोदी राज के लौट आने से भाजपा को भी बड़ा फायदा मिला है।

यह भी पढ़ें: गुप्त वोटिंग होती तो परिणाम कुछ अलग होते: तेजस्वी यादव

हार में इस गठबंधन से बनी सरकार का सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस और लालू यादव को उठाना पड़ेगा। इस नई जीत के साथ भाजपा की झोली में एक राज्य और आ गया है, जिसका 2019 के लोकसभा चुनाव पर बड़ा असर देखने को मिल सकता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार