मध्य प्रदेश और राजस्थान चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिकाएं

डीएन ब्यूरो

मध्य प्रदेश और राजस्थान में होने वाले चुनाव से पहले कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस नेता कमलनाथ एवं सचिन पायलट की अपील को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। डाइनामाइट न्यूज की इस एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें, आखिर क्या है यह पूरी मामला..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नयी दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने मध्य प्रदेश और राजस्थान में मतदाता सूची में कथित गड़बड़ी के खिलाफ कांग्रेस नेता कमलनाथ एवं सचिन पायलट की याचिकाएं शुक्रवार को निरस्त कर दी। न्यायमूर्ति अर्जन कुमार सिकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ ने मतदाता सूची टेक्स्ट प्रारूप में उपलब्ध कराने संबंधी पायलट की मांग भी ठुकरा दी। न्यायालय ने गत सोमवार को सुनवाई पूरी करने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था।

यह भी पढ़ें: जानिये.. राजस्थान में कब होगा चुनाव,आयोग ने की तारीखों की घोषणा 

 

कमलनाथ ने मतदाता सूची में कथित गड़बड़ी की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जांच कराये जाने और 10 फीसदी बूथों पर वीवीपैट के औचक निरीक्षण कराने का अनुरोध न्यायालय से किया था, जबकि पायलट ने सूची को टेक्स्ट प्रारूप में उपलब्ध कराने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें: जानिये.. तेलंगाना में कौन सी तारीख को होगा चुनाव

चुनाव आयोग ने पिछली सुनवाई के दौरान न्यायालय को बताया था कि पहली मतदाता सूची का मसौदा इस साल जनवरी में तैयार हो गया था, जबकि मई में उसमें संशोधन किया गया। मतदाता सूची ठीक कर दी गयी है। याचिकाकर्ताओं ने विधानसभा चुनावों से ऐन पहले मतदाता सूची में फर्जीवाड़े का आरोप लगाया था।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …