मेरठ: आपत्तिजनक टिप्पणी से सांप्रदायिक तनाव, प्रशासन ने नहीं की कार्रवाई

डीएन संवाददाता

मेरठ में एक जूते के कारण बवाल हो गया जिसके कारण शहर में सांप्रदायिक तनाव जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में जानिए क्या है पूरा मामला

शहर के काजी जैनुल राशिद्दीन

मेरठ: बीते सोमवार कोतवाली के भगत सिंह मार्केट में एक जूते पर लिखी आपत्तिजनक धार्मिक टिप्पणी को लेकर शहर में सांप्रदायिक तनाव जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। आला अधिकारियों से इस मामले की शिकायत की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। कार्रवाई न होने से मुस्लिम संप्रदाय असंतुष्ट है। शहर के काजी जैनुल राशिद्दीन ने भी नाराज़गी जाहिर की है। काजी ने टिप्पणी की कि ये न हो कि जूते के कारण शहर का माहौल खराब हो जाए। बुधवार को काजी के साथ शहर के मोहम्मद अज्जिज लोगों ने कमिश्नर अनीता सी मेश्राम से मिलकर दोषियों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई करने की मांग की है। 

यह भी पढ़ें: यूपी में यहां चोरों के हौसले बुलंद..सीसीटीवी कैमरे तोड़कर शोरूम से उड़ाया माल 

 शहर काजी ने कमिश्नर से मिलकर उक्त जूतों की तलाश में भगत सिंह मार्केट में अभियान चलाए जाने की मांग की। साथ ही जूता बनाने वाली कंपनी का पता लगाकर उसके विरुद्ध भी कार्रवाई की मांग की।

 

 

यह बी पढ़ें: मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में जानवरों का आतंक, लोगों में दहशत

उनका कहना है कि घटना में शामिल किसी भी शख्स को बख्शा न जाए फिर चाहे किसी भी धर्म या मजहब का क्यों ना हो। वहीं कमिश्नर ने इस मामले में सख्त कार्रवाई की बात कही है। कमिश्नर ने कहा कि सोमवार को भगत सिंह मार्केट में संप्रदाय विशेष के एक युवक ने जूता खरीदा और दूसरे संप्रदाय विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की। उसके बाद बाद उस संप्रदाय विशेष के लोगों ने कोतवाली पर जमकर हंगामा किया और कार्रवाई की मांग की।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार