Kanpur Encounter: अंकुर बन छिपा था गैंगस्टर विकास दूबे, पुलिस के हाथ आते-आते बचा, ऐसे दिया पुलिस को चकमा

डीएन ब्यूरो

पिछले पांच दिनों से गैंगस्टर विकास दूबे की खोज रही पुलिस बुधवार एक बड़ी कामयाबी के करीब पहुंची लेकिन यह शातिर बदमाश फिर एक बार पुलिस को चतमा देने में सफल रहा। पढिये, पूरी खबर..

पुलिस ने विकास से जुड़े तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार
पुलिस ने विकास से जुड़े तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की हत्या में वांछित 5 लाख का कुख्यात अपराधी विकास दूबे बुधवार को पुलिस के हाथ आने से बाल बाल बच गया। बताया जा रहा है कि पुलिस की छापेमारी से पहले विकास दूबे फरीदाबाद में जिस जगह रह रहा था, वहां से फरार हो गया। उसके बाद भी उसे देखा गया लेकिन वह पुलिस को चकमा देकर फिर भाग गया। हालांकि पुलिस ने उसके तीन साथियों को पकड़ लिया और पूछताछ के लिये अपने साथ ले गयी है। 

फरीदाबाद होटल में पुलिस की छापेमारी

ये भी जानकारी सामने आ रही है कि विकास दूबे फरीदाबाद के बढकल चौक इलाके में स्थित एक होटल में अंकुर के नाम से छिपा हुआ था। लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह वहां से फरार हो गया। लेकिन पुलिस उसके सहयोगियों को पकड़ने में सफल रही। पुलिस ने वहां से हथियार भी बरामद किये है। पकड़े गये विकास के सहयोगियों से पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है। गिरफ्तार तीन आरोपियों में से एक को पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड पर लिया है जबकि दो को न्यायिक हिरासत में जेला भेजा गया है। 

 

बताया जाता है कि होटल से फरार होने के बाद भी किसी स्थानीय व्यक्ति ने गैंगस्टर विकास दूबे को सड़क पर जाते हुए भी देखा। वांटेड अपराधी विकास दूबे वहां मिठाई की एक दुकान के सामने करीब पांच मिनट तक खड़ा होकर किसी का इंतजार करता दिखा। आशंका जतायी जा रही है कि वह वहां से भागने के लिये किसी ऑटो-टैक्सी का इंतजार कर रहा था। देखने वाले स्थानीय नागरिक ने के मुताबिक फरार चल रहे विकास ने काले रंग की शर्ट, जींस और मास्क पहना हुआ था और उसके कंधे पर एक बैग भी टंगा देखा गया है। 

बाद में इस दावे के बाद पुलिस ने उस स्थान के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले, जिसमें एक व्यक्ति को वहां संदिग्ध तरीके से खड़ा देखा जा रहा है। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी कि वह विकास दूबे ही है। यह भी बताया जा रहा है कि वह अपना हुलिया बदलकर वहां रह रहा था, ऐसे में संकेत है कि वह व्यक्ति विकास दूबे भी हो सकता है। 

सीसीटीवा कैमरे में ये भी देखने को मिला कि विकास के रूप में जिस व्यक्ति को वहां देखा गया, वह ऑटो पकड़कर थोड़ी देर में वहां से फरार हो गया। जिस दुकान के सामने वह खड़ा था, वहां के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज जांची जा रही है। जिस इलाके में विकास को देखा गया, वहां के एक शख्‍स ने एक चैनल से भी बातचीत करते हुए कहा पुलिस ने विकास को देखा था, मगर मास्क के कारण चेहरा ढके होने के कारण पुलिस उसे पहचान नहीं सकी।

फरीदाबाद से उसके तीन साथियों की गिरफ्तारी से यह बात पुख्ता होती जा रही है कि विकास दूबे अब भी एनसीआर क्षेत्र में ही है। पुलिस गिरफ्तार किये गये उसके तीन सहयोगियों से पूछताछ में जुटी हुई है। 
 








संबंधित समाचार