महराजगंज: पुलिया निर्माण में भ्रष्टाचार.. एप्रोच नहीं बना और कर दिया पूरा भुगतान, DM ने तलब की रिपोर्ट

डीएन संवाददाता

 पनियरा के औसानी दरगाह के पास पुलिया निर्माण में बड़ा भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है, जिसे लेकर लोगों में भारी आक्रोश है। स्थानीय नागरिकों की शिकायत पर जिलाधिकारी ने मामले की जांच के आदेश दे दिये है। पूरी खबर..

कार्य को  रोकते ग्रामीण
कार्य को रोकते ग्रामीण

महरजगंज: विकास खण्ड पनियरा में एक पुलिया के निर्माण में भ्रष्टाचार का बड़ा मामला सामने आया है। स्थानीय जनता की शिकायत पर जिलाधिकारी ने भी इस मामले जाँच कमेटी का गठन करने का निर्देश देते हुए 15 दिन में इसकी रिपोर्ट तलब की है।

यह मामला पनियरा के औसानी दरगाह में स्थित मलंग बाबा के स्थान के पास पुलिया निर्माण से जुड़ा है। वर्ष 2012-13 में जिला पंचायत द्वारा 32 लाख की लागत से बनाई गई पुलिया का अप्रोच आज तक नहीं बन सका, जबकि इसका पूरा भुगतान हो चुका है। पुलिया निर्माण में इस भ्रष्टाचार के कारण स्थानीय लोगों में भारी नाराजगी है। इस मामले को लेकर यहां के लोगों ने महराजगंज के जिलाधिकारी से लिखित शिकायत की है और जाँच करवाकर दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की है, जिसे डीएम ने गंभीरता से लिया है।

 प्राप्त जानकारी के मुताबिक वर्ष 2012-13 में कार्यदाई संस्था जिला पंचायत द्वारा औसानी दरगाह के पास स्थित टेमर नाले के करीब 15 मीटर पुल बनवाया गया, लेकिन सम्बन्धित ठेकेदार द्वारा उसका एप्रोच नहीं बनवाया गया। बिना एप्रोच बनवाये ही कार्यदाई संस्था को 32 लाख का भुगतान कर दिया गया, जिसकी शिकायत जिला पंचायत की बोर्ड बैठक में कई बार किया की गयी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। अब थक-हारकर मामले की लिखित शिकायत जिलाधिकारी महराजगंज से की गई ।

ताजे मामले औऱ शिकायत की जानकारी मिलने पर ठेकेदार द्वारा 12 अप्रैल 2018 को आनन-फानन में जेसीबी लगाकर एप्रोच बनवाने का काम किया जाने लगा, जिसकी जानकारी होने पर गांव वाले वहां मौके पर पहुँचे और कार्य को रोक दिया गया। गांव वालों का  कहना है कि जब उक्त मामले में डीएम ने जाँच कमेटी गठित कर दी है तो जाँच पूरी होने तक वहाँ कोई कार्य नहीं होना चाहिए और दोषी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार