महराजगंज: प्रधानी का चुनाव हारा तो दबंगई पर उतरा प्रत्याशी, काटी बिजली, अंधकार में डूबा गांव

डीएन संवाददाता

प्रधानी का चुनाव हारने पर एक प्रत्याशी खुन्नस में आकर दबंगई पर उतर आया। हार से परेशान प्रत्याशी ने गाँव की बिजली ही काट डाली। अंधेरे में रह रहे ग्रामीणों में अब आक्रोश देखा जा रही है। पढिये डाइनामाइट न्यूज की पूरी रिपोर्ट



महराजगंज: प्रधानी का चुनाव हारने पर एक प्रत्याशी दबंगई पर उतर आया। हार से हैरान-परेशान इस प्रत्याशी ने इस कदर आपा खोया कि दबंगई पर उतारू होकर  गांव की बिजली काट डाली। पहले प्रत्याशी ने बिजली काटने के लिये लाइनमैन का सहारा लिया लेकिन जब गांव वालों ने खुद बिजली जोड़ी तो नाराज प्रत्याशी ने दोबारा खुद बिजली काट दी। प्रत्याशी की इस हरकत से गांव अंधेरे में डूब गया, जिससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश पनप रहा है।   

पंचायत चुनाव के बाद रंजिश के मामले थमते नजर नहीं आ रहे हैं। घुघुली थाना क्षेत्र के बेलवा तिवारी गाँव में प्रधान पद प्रत्याशी रमेश गुप्ता पर चुनाव हारने के बाद ग्रामीणों को परेशान करने और गांव की बिजली काटने का गंभीर आरोप है। हारे प्रत्याशी की इस हरकत से गांव अंधेर में डूब गया है।

डाइनामाइट न्यूज संवाददाता के मुताबिक घुघुली थाना क्षेत्र के बेलवा तिवारी गाँव में हुए चुनाव में प्रत्याशी रमेश गुप्ता चुनाव हार गए। ग्रामीणें के मुताबिक चुनाव हारने के बाद रमेश गुप्ता की दबंगई चरम पर है। अब इसे दबंगई कहे या मनबढई कि चुनाव हारने के बाद रमेश ने गाँव के ट्रांसफॉर्मर में लगे ग्रामीणों के बिजली कनेक्शन ही काट दिये।

बिजली कटने से ग्रामीणों आक्रोश भी फैलता जा रहा है और ग्रामीण अंधेर में रहने की मजबूर हैं। जनता का कहना है कि जब एक बार बिजली काटी तो ग्रामीणों ने लाईन मैन के सहयोग से कनेक्शन जोड़वा लिया लेकिन फिर दोबारा लाईन मैन को बुला कर कटवा दिया।  जब फिर ग्रामीणों ने हारे हुए प्रधान प्रत्याशी रमेश गुप्ता से कारण जानना चाहा तो वे गाली-गलौज पर उतारू हो गया।

डाइनामाइट न्यूज को कुछ ग्रामीणों ने बताया कि रमेश का कहना है कि यह ट्रांसफार्मर उनका हैं और वह जिसको चाहेंगे उसको ही बिजली देंगे। गांव में अफरा तफरी का माहौल है। 
 










संबंधित समाचार