यूपी में स्कूली वाहनों पर प्रशासन का शिकंजा तेज, बड़े पैमाने पर गाड़ियों का कटा चालान

डीएन ब्यूरो

यूपी के कुशीनगर जिले में स्कूली बच्चों के साथ हुए दुखद हादसे के बाद प्रदेश भर में स्कूली वाहनों का विशेष चेकिंग अभियान शुरू किया गया है, जो 15 मई तक चलेगा।


लखनऊ: स्कूली बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर यूपी के सभी मंडलों में स्कूली वाहनों का विशेष चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया है। इस अभियान में जिला प्रशासन, परिवहन विभाग संयुक्त रुप से काम कर रहा है। अभियान के तहत स्कूली वाहनों के ड्राइवरों, सहायकों समेत स्कूली वाहनों के फिटनेस मेंटेनेंस इत्यादि की जांच की जा रही है। साथ ही जांच के दौरान यदि किसी भी तरह की गड़बड़ी सामने आ रही है तो मौके पर गाड़ी का चालान किया जा रहा है।

मामले की जानकारी देते हुए डीआईजी कानून व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि पिछले 1 मई से शुरू हुए अभियान के तहत अब तक मेरठ जून में 3 हजार से अधिक वाहनों की चेकिंग की गई है। जिनमें से 262 वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। वहीं 1343 ड्राइवरों और सहायकों के सत्यापन का काम किया गया है। जबकि गोरखपुर जून में 2 हजार से अधिक वाहनों की चेकिंग कर 608 वाहनों के खिलाफ कार्रवाई हुई है।

लखनऊ जोन में भी इसी तरह की कार्यवाही करते हुए 67 वाहनों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। उन्होंने बताया कि बच्चे किसी भी देश का भविष्य होते हैं। ऐसे में उनकी सुरक्षा प्रशासन और पुलिस के लिए काफी अहम है। इसी को ध्यान में रखते हुए यह अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि यदि किसी स्कूली वाहन में किसी तरह की कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो ड्राइवर कंडक्टर के साथ-साथ स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार