लखनऊ: SPM चिकित्सालय की नर्सों को मिला कुत्ता भगाने का काम!

डीएन संवाददाता

डा. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कुत्ते के द्वारा मृत महिला का मुंह नोचे जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग चौकन्ना तो हो गया लेकिन इससे संबंधित जारी आदेश ऐसा है कि आपको जानकर हैरानी होगी। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट से जानिये कि नर्सों को कुत्ता भगाने के लिये किसने कहा?

डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय
डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय

लखनऊ: डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय की नर्सों से कहा गया कि उन्हें कुत्ता भगाना है। जी हां, आपको सुनकर थोड़ी हैरानी होगी लेकिन यही सच है चिकित्सालय के निदेशक हिम्मत सिंह दानू द्वारा जारी आदेश में नर्सों का नाम लिखकर ये आदेश दिया गया कि उन्हें अस्पताल से कुत्ता भगाना है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ के RML अस्पताल में रखे शव को कुत्तों ने नोच खाया

आदेश पत्र लेकर सीएमएस से मुलाकात के लिये जाती नर्सें

डाइनामाइट न्यूज़ के संवाददाता से बातचीत में नर्सों ने कहा कि आदेश के बारे में जैसे ही उन्हें पता चला तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। जारी आदेश के विरोध में सिविल अस्पताल की नर्सों ने सीएमएस एके सिंह से मिलकर अपनी नाराजगी जाहिर की। इसके बाद सीएमएस ने निदेशक द्वारा जारी आदेश में त्रुटि मानते हुए उसे निरस्त कर दिया।

यह भी पढ़ें: UP STF की गिरफ्त में आया गोरखपुर मेडिकल कांड का आरोपी डा. कफील खान

सीएमएस से बात करती नर्स

सीएमएस ने जारी किया नया आदेश

सीएमएस ने पुराने आदेश को निरस्त करते हुये नया आदेश जारी किया। नये आदेश में उन्होंने नर्सों की बजाये गार्डों को कुत्ता भगाने का आदेश दिया है।

क्यों जारी हुआ आदेश

राम मनोहर लोहिया अस्पताल के शवगृह में रखे शव को कुत्तों ने नोच-नोच कर खा लिया। यह वाक्या 27 अगस्त को हुआ। इस मामले की अस्पताल प्रशासन को भनक तक नहीं लगी थी। बाद में मामला जब सामने आया तो ड्यूटी पर तैनात 3 लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया था। इसमें सुरक्षा गार्ड, वॉर्ड ब्वाय और सुपरवाइजर शामिल थे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार