योगी सरकार में मंत्री एसपी मौर्य के दामाद सपा में शामिल, अखिलेश यादव ने किया स्वागत

डीएन ब्यूरो

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा मुख्यालय में एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान यूपी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के दामाद नवल किशोर का सपा में शामिल होने पर स्वागत किया। उन्होंने इसे भाजपा के खिलाफ जनता का अंसतोष करार दिया।


लखनऊ: यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा। राज्य के कई युवा कार्यकर्ताओं ने यूपी उपचुनाव में सपा की जीत पर अखिलेश को बधाई दी। इस मौके पर यूपी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के दामाद डा. नवल किशोर औपचारिक तौर पर सपा में शामिल हुए जिनका अखलिश यादव ने स्वागत किया। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में मिली हार के बाद यूपी की भाजपा सरकार को अपने विकास के एजेंडे की याद आई। नहीं तो इसके पहले विकास के एजेंडे के सिवाय योगी सरकार सभी एजेंडों पर ध्यान देने में लगी थी। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है की योगी सरकार अब आम जनता से जुड़े हुए मुद्दों पर ध्यान देने में लगी है। 

 

भाजपा ने युवाओं के साथ खिलवाड़ किया

अखिलेश ने बीटीसी भर्ती परीक्षा उम्मीदवारों समेत सभी भर्तियों में समीक्षा किए जाने के भाजपा सरकार के फैसले पर हमला बोलते हुए इसे युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताया।
गौरतलब है कि शुक्रवार को बीटीसी भर्ती परीक्षा उम्मीदवारों ने यूपी की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल के आवास का घेराव कर नियुक्ति की मांग की थी और इससे पहले अपनी मांगो को लेकर भाजपा मुख्यालय का भी घेराव किया था। जिसके बाद उनके एक प्रतिनिधिमंडल ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से मुलाकात कर मामले मदद की अपील की थी। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की सभी भर्ती परीक्षाओं के उम्मीदवारों को एक बार उनसे मुलाकात कर लेनी चाहिए।  जिससे भाजपा सरकार उनके मामले को गंभीरता से लेकर जल्द से जल्द निपटारा कर दें।

 

अखिलेश को जीत पर दी बधाई

समाजवादी पार्टी द्वारा गोरखपुर और फूलपुर उपचुनावों को जीत लेने के बाद समाजवादी पार्टी में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को जीत पर बधाई देने वालों में यूपी के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के दामाद ने भी सपा सुप्रीमो को जीत पर बधाई दी। यूपी उपचुनाव में मिली जीत के बाद उत्साहित कार्यकर्ताओ ने अखिलेश यादव को स्मृति चिन्ह भेंट किये।

सपा-बसपा गठबंधन जारी रखने के संकेत

अखिलेश ने सपा- बसपा गठबंधन आगामी चुनाव में भी जारी रहने के संकेत दिए। हालांकि आधिकारिक तौर पर उन्होंने इस बारे में कुछ भी कहने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि भविष्य में किसी दल की क्या रणनीति रहेगी। इसके बारे में ठीक ठीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …