राम मंदिर बनाने के लिये लखनऊ में जुटे साधु-संत, मंथन कर बुलायी धर्म संसद

डीएन संवाददाता

अयोध्या में राम मंदिर का बनाने को लेकर सरगर्मियां एक बार फिर से जोर पकड़ने लगी हैं। आज साधु-संतों ने मिलकर मंदिर निर्माण की रूपरेखा पर गहन मंथन किया। केंद्र समेत राज्य सरकारों से राम मंदिर मामले को जल्द जल्द सुलझाने की भी अपील की गयी।


लखनऊ: राजधानी के गन्ना संस्थान में आयोजित हिंदू स्वाभिमान महासम्मेलन में बड़ी तादाद में साधु-संतों ने शिरकत की और अयोध्या में राम मंदिर के जल्द निर्माण लिये गहन मंथन किया। साथ ही मंदिर निर्माण की व्यापक रूपरेखा पर भी चर्चा की गयी। इस कार्यक्रम का आयोजन उत्तर्राज्य नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी की ओर से किया गया। जिसमें संतों ने शंख बजाकर और जय श्रीराम के नारे लगाकर कार्यक्रम का आगाज किया।

मंदिर निर्माण की तिथि

साधु-संतों ने बैठक में केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारों से राम मंदिर मामले को जल्द सुलझाने की अपील कर मंदिर निर्माण की तिथि घोषित करने की मांग की। 

बुलायी जायेगी धर्म संसद 

डाइनामाइट न्यूज़ से बात करते हुए उत्तर्राज्य नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जानी ने बताया कि चुनाव में भाजपा ने जनता से राम मंदिर बनाने का वायदा किया था। आज जब सरकार बन गई है, तो अब उसे जनता से किए वायदे को निभाने चाहिये। उन्होंने कहा कि आगामी 5 अगस्त 2018 को लखनऊ में एक धर्म संसद का आयोजन किया गया है। जिसमें देश भर से लाखों की तादात में साधु संत जुटेंगे और उसी समय अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण की तिथि घोषित की जाएगी।

कार सेवकों को किया जायेगा प्रशिक्षित

यूपी में 10 प्रशिक्षण शिविर खोलकर कार सेवकों को प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि मंदिर निर्माण के काम में कोई अड़चन ना आए।

सीएम योगी से राम मंदिर निर्माण की मांग

उत्तर्राज्य नवनिर्माण सेना अध्यक्ष अमित जानी ने सीएम योगी से अयोध्या में जल्द राम मंदिर निर्माण कराने की अपील की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि अब यूपी में केंद्र और यूपी दोनों जगहों पर भाजपा की सरकारें हैं। इसलिए राम मंदिर निर्माण में कोई दिक्कत नहीं है। यदि सरकार चाहे तो अयोध्या में जल्द ही भव्य राम मंदिर का निर्माण हो सकेगा।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार