लखनऊ: अंबेडकर की प्रतिमा का भगवाकरण करने पर सावित्रीबाई फुले ने सरकार को घेरा

डीएन संवाददाता

लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बहराइच से भाजपा की सांसद सावित्री बाई फुले ने एससी व एसटी अत्याचार निरोधक एक्ट को कमजोर किए जाने को लेकर केंद्र सरकार से कानून में संशोधन करने की मांग उठाई है। पूरी खबर..


लखनऊ: भाजपा को उपचुनावों में मिल रही लगातार हारों के बीच पार्टी नेताओं द्वारा गलत बयानबाजी करने से बीजेपी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इसी क्रम में बहराइच से भाजपा सांसद सावित्रीबाई फुले ने उनकी केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोला है।

भगवाकरण के मुद्दे पर जुबानी हमला

बहराइच से भाजपा सांसद ने कहा कि दलितों के मसीहा बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को देश के कुछ लोगों द्वारा एक सोची समझी साजिश के तहत टीका लगाकर दूध से नहलाया जा रहा है और भगवाकरण करने की कोशिश की जा रही है, जो सरासर गलत है। उन्होंने इस तरह की घटनाओं पर कार्रवाई करने की मांग उठाई।

सरकारी विभागों में भर्तियों के निजीकरण किए जाने का आरोप मढ़ते हुए सावित्रीबाई फुले ने कहा कि सरकारी भर्तियों में निजीकरण खत्म किया जाए और खाली पड़े पदों पर बैकलॉग भर्ती अभियान चलाकर SC/ST उम्मीदवारों को नौकरियों में रखा जाये।

इस दौरान भाजपा छोड़ कर बसपा में जाने के सवाल पर सांसद सावित्री बाई फुले ने कोई जवाब नहीं दिया। इतना जरूर कहा कि वह सरकार में रहकर सरकार की गलत नीतियों का विरोध करेंगी।
 













संबंधित समाचार