Bikru Case: कानपुर के चर्चित बिकरू गोलीकांड में नपेंगे यूपी के 37 पुलिसकर्मी, जानिये पूरा मामला

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में कानपुर के चर्चित बिकरु गोलीकांड में यूपी पुलिस के तीन दर्जन से अधिक कर्मचारियों के खिलाफ जल्द गाज गिर सकती है। दोषी पुलिस कर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की सिफारिश की गयी है। पढिये, डाइनामाइट न्यूज की पूरी रिपोर्ट

बिकरू गांव में विकास दुबे और उसके गुर्गों ने की थी आठ पुलिस कर्मियों की हत्या (फाइल फोटो)
बिकरू गांव में विकास दुबे और उसके गुर्गों ने की थी आठ पुलिस कर्मियों की हत्या (फाइल फोटो)

लखनऊ: यूपी में कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र में स्थित बिकरू गांव में कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गुर्गों द्वारा रात के अंधेरे में पुलिस टीम पर हमला करके सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में यूपी पुलिस के ही कई कर्मचारियों को दोषी पाया गया है। अपराधियों से सांठगांठ करने और उन्हें मदद पहुंचाने के आरोप में यूपी के 37 पुलिसकर्मियों पर अब गाज गिरनी लगभग तय है। 

बिकरू कांड की जांच के लिये गठित एसआईटी की रिपोर्ट के बाद यूपी सरकार अब ऐसे पुलिस कर्मियों के खिलाफ कड़े एक्शन के मूड़ में है। उत्तर प्रदेश सरकार के गृह विभाग ने भी उन सभी 37 पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है, जिन्हें देश को हिलाकर रख देने वाले बिकरू कांड में दोषी पाया गया है।

गृह विभाग ने डीजीपी से बिकरू कांड के 37 दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेने की सिफारिश की है। एसआईटी द्वारा सरकार को सौंपी गयी रिपोर्ट में गैंगस्टर विकास दुबे के घर दबिश देने गई यूपी पुलिस टीम पर हमले और सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में 37 पुलिसकर्मियों को दोषी माना गया है।

गैंगस्टर विकास दुबे से मिलीभगत के आरोपी इन 37 पुलिस कर्मियों पर अब सख्त कार्रवाई की जाने की तैयारी सरकार द्वारा की जा रही है।

दोषी पाये गये इन 37 पुलिस कर्मियों पर मुठभेड़ में मारे गये कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गुर्गों तक कई तरह की मदद पहुंचाने का आरोप है। इसके अलावा दोषी पुलिस कर्मियों पर इन अपराधियों को शस्त्र लाइसेंस दिलाने और पुलिस की अंदरूनी सूचनाएं पहुंचाने में भी मदद करने का आरोप है।   
 








संबंधित समाचार