सावन सोमवार का व्रत रखते समय इन नियमों का करें पालन, भगवान शिव हमेशा रहेंगे प्रसन्न

डीएन ब्यूरो

आज सावन का पहला सोमवार है, इस दिन भगवान शिव को खुश करने के लिए कई लोग व्रत रखते हैं। व्रत के दौरान कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है जिससे भगवान शिव को खुश करने में किसी तरह की कोई गलती ना हो। आइए जानते हैं सावन के सोमवार के व्रत के नियम और विधि..

भगवान की पूजा करते लोग
भगवान की पूजा करते लोग

नई दिल्ली: सावन का महीना भगवान शिव और उनके भक्तों के लिए बहुत ही महत्तवपूर्ण माना जाता है। इसलिए देश भर के मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पहुंचती है शिव जी के दर्शन करने के लिए।  शिवभक्त सावन सोमवार के दिन उपवास रखते हैं। इस मौके पर जानिए व्रत के सही नियम और विधि।

सावन का व्रत शाम तक रखा जाता है। सुबह उठकर सबसे पहले नहा कर व्रत की शुरुआत करनी चाहिए इसके बाद भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। साथ ही शिव मंत्रों का जप करना चाहिए। कहा जाता है कि सावन के महीने में सोमवार व्रत रखने से पूरे साल के सोमवार के व्रतों का फल मिल जाता है।

सोमवार को व्रत के दौरान कोई भी गलत काम करने से बचे। किसी इंसान या किसी चीज के लिए कोई बुरे विचार मन में ना लाएं। भगवान शिव की पूजा के लिए बेलपत्र और धतूरा जरूर रखें। सावन में बैंगन खाने से बचें क्योंकि शास्त्रों में इसे अशुद्ध माना जाता है। सावन में मांस  और शराब से दूर रहना चाहिए इससे पाप भी लगता है और मन भी अशुद्ध होता है। 

सावन में व्रत रखने से चंद्रग्रह दूर होता है, जिससे फेफड़े का रोग, दमा और मानसिक रोगों से मुक्ति मिलती है। अविवाहित लड़कियों के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। इस साल सावन17 जुलाई से शुरू हुआ हौ और 15 अगस्त को खत्म होगा। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार