करवाचौथ पर महिलाओं में मेहंदी की होड़, पुरूषों ने भी रखा व्रत

डीएन संवाददाता

करवाचौथ के अवसर पर कुछ महिलाएं अलग और स्पेशल तरह से इस पर्व को मनाने में जुटी हुई है। दूसरी तरफ कई ऐसे भी कई पुरुष हैं, जो अपनी पत्नियों के लिये व्रत रखे हुए हैं।

मेहंदी रचाती महिलाएं
मेहंदी रचाती महिलाएं

कानपुर: करवाचौथ के अवसर पर हाथों में मेहंदी रचाने लिए पार्लरों और बाजारों में सुहागिन महिलाओं को जमावड़ा लगा रहा। कुछ महिलाएं तो अलग और स्पेशल तरह से करवा चौथ मनाने में जुटी हुई है। दूसरी तरफ कई ऐसे भी पति हैं जो अपनी पत्नियों के लिये व्रत रखे हुए हैं।

 

मेहंदी रचाने की मची होड़

हाथों में मेहंदी लगवाती निशा ने बताया कि वह करवाचौथ के पर्व पर मेहंदी लगवाने आयी है। हर बार की तरह इस बार कुछ स्पेशल करवाचौथ मनाएंगे। डिंपल ने बताया कि मेरा पहला करवाचौथ है। आज मुझे इस पर्व पर व्रत रखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। मुझे बहुत खुशी है कि हर सुहागिन महिलाओं की तरह आज मै भी अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखूंगी। इस दौरान मेहंदी से लेकर पार्लर तक महिलाओं की भीड़ बनी रही हर तरफ सुहागिनी महिलाएं सोलह श्रृंगार कर करवाचौथ की पूजा के लिए तैयार होने में जुट गई हैं।

पति ने भी रखा पत्नी के लिए व्रत

शहर में कुछ ऐसे पति भी हैं, जो अपनी पत्नियों के लिए व्रत रखे हुए है। लाल बंगला निवासी सुजीत चौरसिया ने बताया कि हर साल की तरह इस बार भी अपनी पत्नी के साथ करवाचौथ का व्रत रखा है। लालबंगला इलाके के रहने वाले सुजीत चौरसिया लेदर कारोबारी है। वह भी पिछले तीन साल से अपनी पत्नी के लिए ये व्रत कर रहे है। इस व्रत को लेकर सुजीत और उनकी पत्नी ज्योति ने बताया कि इंगेजमेन्ट के बाद बिना बताए हमने करवाचौथ का व्रत रखा था। 

पति की लंबी उम्र की कामना

करवाचौथ महिलाएं सुबह से लेकर शाम तब तक व्रत रखती हैं जब तक चंद्रमा नहीं दिख जाता। इस दौरान वे पानी तक नही पीती। चांद दिखने पर चंद्रमा की आरती उतारती हैं और पूजा करती हैं तथा अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवाचौथ का पर्व महिलाओं के जीवन के एक नई खुशी की सौगात भी लाता है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार