कानपुर: विराट कोहली का हमशक्ल भी किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं

डीएन संवाददाता

डायनामाइट न्यूज़ से बातचीत में गौरव नारंग ने बताया कि लोग मुझे विराट समझ लेते हैं। गौरव ने बताया कि विराट का डुप्लीकेट होने से नुकसान नहीं है, बल्कि फायदे ही फायदे हैं। किसी रेस्टॉरेंट्स जैसी जगह पहुंचने पर मुझे भी डिस्काउंट मिलता है, मेरा कॉन्टैक्ट नंबर भी लोग विराट के नाम से ही सेव करते है।

असली-नकली विराट
असली-नकली विराट

कानपुर:  भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के अलावा धोनी और सहवाग के डुप्लीकेट (हमशक्ल) आपने जरूर देखें होंगे। क्रिकेटरों की इस सूची में एक ऐसा ही और नाम शामिल है, जिसका भी डुप्लीकेट मौजूद है। हम बात कर रहे हैं कानपुर (स्वरूप नगर) निवासी 27 वर्षीय गौरव नारंग की। गौरव को देखकर आप भी चकमा खा जाएंगे और उसे विराट कोहली समझकर जरूर मिलना चाहेंगे। कानपुर के लोग विराट के इस डुप्लीकेट के बड़े फेन हैं।

 

गौरव नारंग हूबहू विराट कोहली जैसा दिखता ही नहीं, बल्कि विराट की हर एक्टिविटीज को भी फॉलो करता है, जिससे लोगों को उसके असली विराट होने पर थोड़ा भी संदेह नहीं होता।

डायनामाइट न्यूज़ ने इस डुप्लीकेट विराट से खास बातचीत की। डुप्लीकेट विराट यानी गौरव नारंग ने बताया कि जब भी मैं कभी घर से बाहर निकलता हूँ तो लोग एक बार उसे विराट ही समझ बैठते हैं। जो विराट के फैंस होते है, वह मेरे साथ सेल्फी और फोटोज क्लिक करने में लग जाते हैं। ऐसा करने से मुझे भी सेलिब्रिटी वाली फीलिंग आती है।

गौरव ने बताया कि मैं विराट का बहुत बड़ा फैन हूँ। जब से विराट ने अपनी बियर्ड स्टाइल रखना शुरू किया, तब मैंने भी सोचा कि मुझे भी ऐसा कुछ ट्राई करना चाहिए। जैसे ही मैने ये लुक रखा, सभी लोगों ने कहा कि वॉव 'यू लुक लाइक अ विराट'। बकौल नारंग, तबसे मैं विराट की हर उस चीज़ को, चाहे वो ड्रेसिंग स्टाइल हो या फिर हेयर स्टाइल या बियर्ड स्टाइल, सबको फॉलो करता चला आ रहा हूँ।

गौरव ने बताया कि पिछले साल हुए मैचों के दौरान मैं दो बार विराट कोहली से मिल चुका हूं। खुद होटल स्टाफ भी मुझे पहचान नही पाया था कि मैं विराट का डुप्लीकेट हूँ। सिक्युरिटी रीजन की वजह से उनसे ज्यादा देर नहीं मिल सका। हां उनके साथ फोटो क्लिक ज़रूर की थी। इस बार भी उनसे जरूर मिलूंगा और उनके लिए एक सरप्राइज गिफ्ट भी ले जाऊंगा।

 

डुप्लीकेट होने से नुकसान नही बल्कि फायदे 

डायनामाइट न्यूज़ से बातचीत में डुप्लीकेट विराट ने बताया कि मैच के दिनों में एक बार लोग मुझे विराट ही समझ लेते हैं। फैन्स को कहीं न कहीं ऐसा लगता है कि असली विराट से नहीं मिल सकते तो कम से कम इस विराट के डुप्लीकेट से मिल लिया जाये। मुझे भी तब बड़ी खुशी होती है, जब फैन्स मुझे घेर लेते हैं। फोटोज के लिए ज्यादा भीड़ हो जाने से फिर वहां से निकलना पड़ जाता है। गौरव ने बताया कि विराट का डुप्लीकेट होने से नुकसान नहीं है, बल्कि फायदे ही फायदे हैं। जैसे कहीं भी रेस्टॉरेंट्स में पहुंचता हूं तो लोग मुझे विराट समझ बैठते हैं। मुझे से डिस्काउंट भी मिलता है। वहां के स्टाफ ने मेरा कॉन्टैक्ट नंबर भी विराट के नाम से सेव कर रखा है। 
गौरतलब है कि पिछले साल हुए नागपुर वनडे में कमेंटेटर हर्षा भोगले ने कमेंट्री के दौरान डुप्लीकेट विराट यानी गौरव नारंग का जिक्र भी किया था। गौरव की रियल लाइफ की बात करें तो गौरव का माउथ फ्रेशनर का बिजनेस है। गौरव अपने भाई बहनों में सबसे छोटे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …