स्मृति ईरानी ने मनबढ़ों को सिखाया सबक, 4 छात्र चढ़े पुलिस के हत्थे

डीएन संवाददाता

दिल्ली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की कार का ‘नशे’ की हालत में पीछा करने वाले दिल्ली विश्वविद्यालय के चार छात्रों को जमानत दे दी है। इन्हें महिला का पीछा करने और उसकी अस्मिता भंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

स्मृति ईरानी केंद्रीय मंत्री
स्मृति ईरानी केंद्रीय मंत्री

नई दिल्ली: दिल्ली में सबसे ज्यादा सुरक्षित माने जाने वाले लुटियन जोन में केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की कार का पीछा करने वाले चारों युवकों को जमानत मिल गई है। पुलिस का कहना है कि पूछताछ में युवकों ने बताया वह पीछा नहीं कर रहे थे और न ही उन्हें पता था कि कार में केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी हैं। 

यह भी पढ़ें: जेल में बंद बाहुबली शहाबुद्दीन ने पुलिस से कर डाली अजीब मांग !

क्या था मामला?
स्मृति ईरानी शनिवार शाम को मुंबई से दिल्ली एयरपोर्ट लौटी थीं। वहां से अपनी सरकारी गाड़ी में बैठकर वह घर की तरफ जा रही थीं। उनकी गाड़ी के अलावा एक अन्य कार भी उनके साथ चल रही थी, जिसमें कुछ अन्य लोग सवार थे। वह जब मोती बाग फ्लाइओवर से आगे निकलकर म्यांमार दूतावास के पास पहुंची तो हरियाणा नंबर की एक सेंट्रो कार उनकी गाड़ी का पीछा करने लगी। उसमें चार युवक सवार थे। वह कभी उनकी कार को ओवरटेक करते तो कभी साथ में चलने लगते। उन्होंने मंत्री की तरफ कुछ इशारा किया और तेजी से गाड़ी भगाने लगे। उसी समय स्मृति ईरानी ने वहां खड़ी एक पीसीआर गाड़ी को देखा। उन्होंने पुलिसकर्मियों से कहा कि उस कार को रोके। पुलिस और खुद उनकी कार ने पीछा किया और फ्रांस दूतावास के पास कार को पकड़ लिया।

यह भी पढ़ें: लोकसभा में GST बिल पेश, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया क्रांतिकारी कदम, तो कांग्रेस ने बताया ‘बेबी स्टेप’

कौन थे आरोपी
चारों लड़के वसंत विलेज के पास रहते हैं। शनिवार शाम दोस्त की बर्थडे पार्टी से शराब पीकर लौटने के बाद चारों लड़कों ने स्मृति की गाड़ी का पीछा किया था। चारों युवक डीयू के छात्र हैं। इनकी पहचान आनंद शर्मा, अविनाश, शितांशु और कुणाल के रूप में हुई थी।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार