बदायूं सांसद संघमित्रा मौर्य की बढ़ी मुश्किलें, धर्मेंद्र यादव ने हाईकोर्ट में डाली याचिका

डीएन संवाददाता

बदायूं लोकसभा क्षेत्र से भाजपा की नवनिर्वाचित सांसद और राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की पुत्री संघमित्रा मौर्य की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। संघमित्रा के राजनीतिक प्रतिदंद्वी और समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद धर्मेन्द्र यादव ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में शुक्रवार को एक चुनाव याचिका दाखिल की है। डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव:

बायें संघमित्रा एवं दायें धर्मेन्द्र
बायें संघमित्रा एवं दायें धर्मेन्द्र

प्रयागराज: क्या भाजपा के टिकट पर बदायूं संसदीय सीट से चुनाव जीतने वाली संघप्रिया मौर्य के निर्वाचन में वाकई कोई गड़बड़ी हुई है? यह सवाल उठ खड़ा हुआ है सपा के पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव की एक चुनावी याचिका से। 

यह भी पढ़ें: यूपी में थोक के भाव में 30 आईएएस के तबादले, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सचिव को हटाया

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक धर्मेन्द्र ने आज मौर्य के चुनाव के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक चुनाव याचिका दाखिल की है। उन्होंने महानिबंधक के समक्ष याचिका अपने अधिवक्ता एनके पांडेय के माध्यम से दाखिल की।

पूर्व सांसद ने याचिका में कहा है कि बिलसी विधानसभा में 10 हजार वोट पड़े हैं लेकिन वोटों की गिनती उससे अधिक हुई है। यही नहीं संघमित्रा ने अपनी वैवाहिक स्थिति के बारे में चुनाव आयोग को गलत जानकारी दी है, ऐसी परिस्थिति में संघमित्रा का निर्वाचन रद्द किया जाय।

नियमों के मुताबिक अब यह याचिका हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के सामने रखी जायेगी जिसके बाद वे उपयुक्त बेंच को इसे सुनवाई के लिए नामित करेंगे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …