देवरिया: अलग भोजपुरी राज्य की मांग को लेकर गौरव यात्रा का आयोजन

डीएन संवाददाता

पूर्वी उत्तर प्रदेश तथा बिहार के कुछ जिलों को मिला कर पृथक भोजपुर प्रदेश की माँग को लेकर भोजपुरी गौरव यात्रा नकाली गयी। इस मौके पर जनसभा और सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी शानदार आयोजन किया गया।

गौरव यात्रा पर प्रस्तुति
गौरव यात्रा पर प्रस्तुति

देवरिया: पूर्वी उत्तर प्रदेश तथा बिहार के कुछ जिलों को मिला कर पृथक भोजपुर प्रदेश की समेत तमाम मांगों को लेकर यहां प्रगतिशील भोजपुरी समाज के बैनर तले भोजपुरी गौरव यात्रा का आयोजन किया गया। इस यात्रा के जरिये लोगों को जागरूक कर सरकार से भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की गयी।

यह भी पढ़ें:1857 की क्रांति की याद में देवरिया में संगीतमय श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन

क्षेत्र के मदनपुर, मठिया, जमीरा, कोरवा आदि गांवों में भोजपुरी गौरव यात्रा निकाली गयी। जमीरा गांव में यह यात्रा जनसभा में परिवर्तित हो गयी। इस दौरान नरसिंह यादव, कैप्टन बीरेंद्र सिंह, प्रधानाचार्य वीरेंद्र सिंह, शिवहरि त्रिपाठी, आचार्य मनोज, शांति स्वरूप दुबे, पंकज यादव, पटेल सहित अनेक लोगों ने भोजपुरी के विकास व सम्मान के लिए अपने-अपने सुझाव दिए। जनसभा में वक्ताओं ने भोजपुरी में अश्लीलता परोसने पर चिंता ब्यक्त की और फूहड़ता रोकने की मांग की।

इस मौके पर प्रगतिशील भोजपुरी समाज द्वारा एक सांस्कृतिक संध्या का आयोजन भी किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम में पूनम मणि, राजू चौबे, बलवन्त सहित अनेक प्रतिभाओं ने भोजपुरी में कर्णप्रिय गीतों को प्रस्तुत कर लोगों की खूब वाहवाही लूटी। नित्यानंद यादव के तबला वादन को लोगों ने काफी पसंद किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पहलवान साधू यादव और संचालन सौदागर सिंह ने किया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार