पटाखा फैक्ट्री में 17 लोगों के जिंदा जलने से दहली दिल्ली, फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

डीएन ब्यूरो

राजधानी दिल्ली के बवाना इंडस्ट्रीयल ऐरिया में स्थित एक पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से कम से कम 17 लोगों का मौत से पूरी दिल्ली दहल गयी है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया है। पीएम मोदी समेत कई लोगों ने इस घटना पर दुख जताया है।

राहत और बचाव कार्य
राहत और बचाव कार्य

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के बवाना इंडस्ट्रीयल ऐरिया में स्थित एक पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से कम से कम 17 लोग जिंदा जल गये, जबकि कई लोग बुरी तरह झुलस गये है। मृतकों की संख्या अभी तक साफ नहीं हुई। यह आग एक प्लास्टिक फैक्ट्री से शुरू हुई, जो देखते ही देखते अन्य फैक्ट्रियों तक भी फैल गयी। जान बचाने के लिये कई लोगों ने दूसरी-तीसरी मंजिल से छलांग लगायी। घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया है।

आग बुझाते दमकल कर्मी

इस भीषण अग्निकांड में मरने वालों में महिलाओं की संख्या ज्यादा बतायी जाती है। दिल दहला देने वाले इस हादसे ने पूरी दिल्ली को झकझोर कर रख दिया है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह आग एक प्लास्टिक के गोदाम से शुरू हुई और पटाखा फैक्ट्री तक पहुंच गई। धीरे-धीरे पूरे क्षेत्र में चीख पुकार मचनी शुरू हो गयी।

 

मौके पर मौजूद एंबुलेंस

राजधानी के इस भीषण अग्निकांड में फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फैक्ट्री मालिक के खिलाफ धारा 304, 285 और एक्सप्लोसिव एक्ट के चहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस का कहना है कि यह फैक्ट्री अवैध तरीके से संचालित की जा रही थी। इसे 1 जनवरी को ही किराये पर लिया गया था। दिल्ली पुलिस ने भी इस हादसे में 17 लोगों के मरने की पुष्टि की है। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस हादसे पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है। साथ ही गंभीर रूप से घायल लोगों को 1 लाख रुपये देने का ऐलान किया है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार