कांग्रेस महाधिवेशन में राहुल गांधी ने किये भाजपा और आरएसएस पर तीखे हमले

डीएन ब्यूरो

कांग्रेस पार्टी के 84वें महाधिवेशन के दूसरे और अंतिम दिन पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी समेत भाजपा और आरएसएस पर जहां कई हमले बोले वहीं उन्होंने कार्यकर्ताओं से 2019 के चुनाव के लिये कमर कसने को भी कहा।

महाधिवेशन को संबेधित करते राहुल गांधी
महाधिवेशन को संबेधित करते राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के 84वें महाधिवेशन के दूसरे और अंतिम दिन पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी समेत भाजपा और आरएसएस पर एक के बाद एक जमकर कई हमले बोले। भाजपा अध्यक्ष पर भी वार करते हुए कहा कि वह हत्यारोपी हैं। राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस देश के हर संस्थान को खत्म करना चाहती हैं, चाहे वह न्यायपालिका हो, संसद हो, पुलिस हो या कोई और अन्य संगठन, वह हर संस्थान पर अपना कब्जा चाहती है। 

अधिवेशन का एक दृश्य

 

बीजेपी और आरएसएस कौरवों की तरह

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पांडवों की तरह है, जो सच्चाई के लिए लड़ती है जबकि बीजेपी और आरएसएस कौरवों की तरह है जो सिर्फ सत्ता के लिए लड़ते हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी कौरवों की तरह सत्ता के नशे में चूर है, बीजेपी एक संगठन की आवाज है जबकि कांग्रेस पूरे देश की आवाज है। कांग्रेस 70-80 साल पुरीना पार्टी है, जिसने देश शुरूआत से ही देश को विकास के मार्ग पर लेकर जाने का काम किया।

कांग्रस अध्यक्ष राहुल गांधी

हार के बाद पीएम मोदी में बदलाव

राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा को हाल के कई चुनावों करारी हार झेलनी पड़ी। इन हारों के बाद पीएम मोदी में भी बदलाव देखा जा रहा, उन्होंने सूट-बूट पहनना बंद कर दिया है। अगले चुनाव में देश की जनता भाजपा के घमंड को तोड़ेगी। बीजेपी एक संगठन की आवाज है, कांग्रेस देश की आवाज है। यही भाजपा और कांग्रेस में अंतर है। 

कांग्रेस पार्टी सच्चाई का संगठन

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी महात्मा गांधी की पार्टी है, आजादी की पार्टी है। कांग्रेस पार्टी सच्चाई का संगठन है। भारत की जनता को, युवाओं को कांग्रेस से काफी उम्मीदें हैं। गांधी जी ने 50 साल जेल में बिताए और भारत के लिए जान दी। देश के हर कोने की जमीन कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के खून से रंगी है। हमारे 16 हजार वर्कर केवल पंजाब में मारे गए। इस देश के हर राज्य में ऐसे कार्यकर्ताओं की लिस्ट है जो देश के लिए मारे गए। इस देश की मिट्टी हमारे कार्यकर्ताओं के खून से रंगी हुई है।

अगले चुनाव में कार्यकर्ताओं को टिकट

राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं के लिये 2019 के चुनावों के लिये कमर कसने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब केवल 7-8 माह का ही समय रह गया है, हम सभी को जमकर मेहनत करनी होगी। मैने भी कर्यकर्ताओं के लिये मंच खाली कर दिया है। कांग्रेस ने गुजरात चुनावों में कार्यकर्ताओं को टिकट दिये थे, अगले चुनाव में भी कार्यकर्ताओं को टिकट दिये जायेंगे।

बदलाव वक्त की मांग

राहुल गांधी ने कहा कि बदलाव वक्त की मांग होती है, इसलिये हमें कांग्रेस में बदलाव कर इसे फिर से वह पार्टी बनाना है जो महात्मा गांधी, नेहरू जैसे महान नेताओं की समय थी। हमारे कार्यकर्ता जो यहां बैठे हैं, उनमें ऊर्जा है, देश को बदलने की शक्ति है। मगर उनके बीच में और हमारे नेताओं के बीच में एक दीवार खड़ी है। मेरा पहला काम उस दीवार को तोड़ने का होगा। हम उस दीवार को गुस्से से नहीं प्यार से तोड़ेंगे। जो हमारे सीनियर नेता हैं उनकी इज्जत रखकर उनसे प्यार कर हम यह दीवार तोड़ेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अभी जो भी आपसी लड़ाई है चुनाव बाद लड़ेंगे, पहले पार्टी के लिए काम करेंगे।

भाजपा और कांग्रेस में यह बड़ा अंतर

राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस में एक और बड़ा अंतर है। भाजपा ने नोटबंदी की, युवाओं का रोजगार गया, लोग परेशान हुए। भाजपा गब्बर सिंद टैक्स लेकर आयी, देश में महंगायी बढ़ी और हर कोई परेशान है। गलती सबसे होती है लेकिन भाजपा-आरएसएस अपनी गलती स्वीकार नहीं करती जबकि कांग्रेस हिम्मत दिखाकत गलती स्वीकार भी करती है और सुधार भी करती है। यही भाजपा और कांग्रेस में बड़ा अंतर है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …