जापान में हगिबिस तूफान में मृतकों की संख्या बढ़ी, सौ लोग घायल

डीएन ब्यूरो

जापान में रविवार को आये शक्तिशाली हगिबिस तूफान के कहर से मरने वालों की संख्या 19 हो गयी है तथा 16 लोग अभी लापता हैं और अन्य 100 घायल हैं।

हगिबिस तूफान
हगिबिस तूफान

टोक्यो: जापान में रविवार को आये शक्तिशाली हगिबिस तूफान के कहर से मरने वालों की संख्या 19 हो गयी है तथा 16 लोग अभी लापता हैं और अन्य 100 घायल हैं।

यह तूफान स्थानीय समय आज एक बजकर 30 मिनट पर आया। टोक्यो महानगरीय क्षेत्र सहित क्षेत्र के एक लाख 40 हजार से अधिक घरों में लोग बिना बिजली के रह रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः चीनी अधिकारियों के वीजा पर अमेरिकी प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय मानदंड का उल्लंघन 

इस बीच क्योडो न्यूज टैली के अनुसार बचाव दल और अन्य अधिकारियों की जानकारी के आधार पर 100 लोग घायल हुए हैं, जबकि एक एनएचके टैली ने बताया कि घायलों की संख्या 149 है।

भूमि, बनियादी, परिवहन एवं पर्यटन मंत्रालय के अनुसार 12 प्रांतों में कम से कम 48 स्थानों पर भूस्खलन और नौ नदियों को तट टूट गये। पूरे देश में बचाव एवं राहत अभियान के लिए 27 हजार आत्मरक्षा बल के कर्मियों को राहत कार्य में लगाया गया है।

चिकुमा नदी के बांध टूटने से नागोना प्रांत में सबसे अधिक प्रभावित हुआ है जिससे आवासीय क्षेत्रों में जबरदस्त बाढ़ आ गयी है। नागानो शहर और पड़ोसी शहराें के निवासियों को अपनी सुरक्षा के लिए अत्यधिक सावधानी बरतने का आह्वान किया है। भूमि मंत्रालय ने अनुमान लगाया कि कई इलाकों में पांच मीटर की ऊंचाई तक बाढ़ का पानी दिखाई दिया। बाढ़ की लहर घरों में फंसे हुए लोगों की दूसरी मंजिल तक देखा गया।

यह भी पढ़ेंः  International News: मैक्सिको में चलती ट्रेन से टकराई बस, नौ लोगों की मौत

नागनो स्टेशन के पास ईस्ट जापान रेलवे कंपनी के रेल यार्ड में खड़ी बुलेट ट्रेन भी बाढ़ के पानी में डूबी हुई है। कंपनी के अनुसार 10 ट्रेनों के कुल 120 डिब्बों को नुकसान पहुंचा है। होकुरिकु शिंकानसेन लाइन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बुलेट ट्रेनों में से एक तिहाई ट्रेन बाढ़ से क्षतिग्रस्त हो गईं हैं।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि सरकार शक्तिशाली तूफान हगिबिस से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए और लोगों को इस तूफान से बचाने के लिए हर संभव उपाय करने के वास्ते एक आपातकालीन कार्यबल का गठन कर रही है।(वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार